Kanhaiya Kumar

हाथरस कांड पर फूटा कन्हैया कुमार का गुस्सा, बोले – मीडिया ने अपनी रीढ़ की हड्डी क्यों तोड़ ली और ज़ुबान क्यों सिल ली?

News Desk
Share on facebook
Share on twitter
Share on email
Share on pocket

उत्तर प्रदेश: हाथरस जिले में दुष्कर्म का शिकार युवती की मौत से लोगों का गुस्सा चरम पर है. इस जघन्य घटना पर समूचे देश से प्रतिक्रियाएं आ रही हैं. देश की कई दिग्गज हस्तियों ने इसके दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग की  वहीं जेएनयू छात्र संघ के पूर्व अध्यक्ष और सीपीआई के नेता कन्हैया कुमार ने ट्वीट करते हुए कहा कि बलात्कारियों ने देश की एक बेटी की रीढ़ की हड्डी तोड़ दी और उसकी ज़ुबान काट दी ताकि वो बलात्कारियों के खिलाफ़ बोल ना सके। सवाल यह है कि रागदरबारी मीडिया ने अपनी रीढ़ की हड्डी क्यों तोड़ ली और ज़ुबान क्यों सिल ली? इतना भी नहीं बोल पा रहे हैं कि हाथरस उत्तर प्रदेश में है।

Advertisement

कन्हैया कुमार यहीं नहीं रुके और लगातार एक के बाद एक ट्वीट करते हुए लिखा कि दरअसल इसके पीछे एक ख़ास तरह की मानसिकता काम करती है। भाजपा का विधायक कुलदीप सेंगर याद है? कैसे सत्ता ने बलात्कार और हत्या के इस आरोपी को बचाने का भरपूर प्रयास किया था। सत्ता, जाति, पितृसत्ता और अवसरवादिता के गठजोड़ से ही अपराधियों और बलात्कारियों का मनोबल बढ़ता है। हाथरस की दर्दनाक घटना में भी यही देखने को मिला है। नतीजा यह है कि बलात्कारी बेख़ौफ होकर हमारी निर्भयाओं को बलात्कार के बाद मौत के घाट उतार रहे हैं। ये घटनाऐं किसी भी देश या समाज के लिए जितनी दर्दनाक है उतनी ही शर्मनाक भी है।

हम लोग जब आजाद देश में महिलाओं की बेख़ौफ आजादी की मांग करते हैं तो समाज के ऊपर गुलामी थोपने वाली ताक़तें उल्टा हमें ही देशविरोधी करार देते हैं। कान खोलकर सुन लो, जब तक समाज में शोषण, गुलामी और गैरबराबरी है, तब तक इसके खिलाफ संघर्ष जारी रहेगा।

Advertisement

Leave a Reply

Share on facebook
Share on twitter
Share on pocket
Share on whatsapp
Share on telegram

Popular Searches