bengaluru-violence

फेसबुक पर आपत्तिजनक पोस्ट को लेकर भड़की हिंसा, 110 लोग गिरफ्तार

News Desk
Share on facebook
Share on twitter
Share on email
Share on pocket

मंगलवार कि रात को एक आपत्तिजनक फेसबुक पोस्ट को लेकर बेंगलुरु में हिंसा भड़क गई, जिसमे पुलिस ने 110 लोगो को गिरफ्तार किया है.

Advertisement

कर्नाटक के पूर्वी इलाके में मंगलवार कि रात हिंसा भड़क गई. जानकारी के अनुसार कांग्रेस विधायक आर अखंडा श्रीनिवास मूर्ति के एक रिश्तेदार द्वारा कथित रूप से एक अपमानजनक फेसबुक पोस्ट कि गई थी. जिसे देख लोगो में काफी गुस्सा था और इसी वजह से हिंसा हुई. कांग्रेस विधायक के रिश्तेदार की पहचान पी नवीन के रूप में की गई है. पी नवीन पर आरोप है कि उन्होंने पैगंबर मुहम्मद के बारे में अपमानजनक टिप्पणी की थी।

Also Read: राष्ट्रपति पुतिन का दावा रूस ने बना ली कोरोना वैक्सीन, पुतिन की बेटी को दिया गया पहला डोज

फेसबुक पोस्ट से कैसे भड़की हिंसा:

फेसबुक पोस्ट का विरोध कर रहे प्रदर्शनकारियों ने कहा कि पी नवीन द्वारा पैगंबर मुहम्मद के बारे में कि गई आपत्तिजनक पोस्ट को लेकर अदिकारियों से उसकी गिरफ़्तारी कि मांग कर रहे थे लेकिन अधिकारियो द्वारा तुरंत एफआईआर लिखने से मना कर दिया। इसपर पुलिस ने कहा कि नवीन की गिरफ्तारी की मांग को लेकर केजी हल्ली और डीजे होली पुलिस थानों के सामने लगभग 1,000 लोगों की भीड़ जमा हो गई थी। इसके बाद प्रदर्शनकारियों ने नारेबाजी, पथराव और वाहनों को आग के हवाले करना शुरू कर दिया। जिला पुलिस आयुक्त पूर्वी भीमाशंकर गुलेल की कार पर पत्थर और लाठी से हमला किया गया। डीजे होली स्टेशन पर एक पुलिस वाहन को आग लगा दी गई।

टाइम्स नाउ की खबर के अनुसार विधायक के घर पर प्रदर्शनकारी एकत्र हुए, जहां उन्होंने उनके घर के बाहर खड़ी संपत्ति और वाहनों में तोड़फोड़ की। साथ ही कमल पंत के नेतृत्व वाली एक पुलिस दल पर पत्थरों से हमला किया गया।

Also Read: दिल का दौरा पड़ने से मशहूर शायर राहत इंदौरी का निधन, कोरोना से भी थे पीड़ित

हिंसा भड़काने के आरोप में 110 लोग गिरफ्तार:

हिंसा को रोकने के द्वारा हवा में गोली चलाई गई, आंसू गैस का इस्तेमाल किया गया साथ ही प्रदर्शनकारियो पर लाठी भी चार्ज कि गई. मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार हिंसा में 60 से अधिक पुलिसकर्मी घायल हुए है. कमल पंत ने ट्वीट कर कहा कि आपत्तिजनक पोस्ट के लिए नवीन को गिरफ्तार कर लिया गया है. इसके अलावा अन्य 110 लोगों को आगजनी, पथराव और पुलिस पर हमले के लिए गिरफ्तार किया गया.

Also Read: विश्व आदिवासी दिवस को भूल गए प्रधानमंत्री मोदी, ट्विटर पर ट्रैंड हुआ #AntiAdivasiModi

विधायक की अपील:

इस बीच, मूर्ति ने प्रदर्शनकारियों से शांति बनाए रखने की अपील करते हुए एक वीडियो संदेश जारी किया। उन्होंने कहा, “मैं अपने मुस्लिम दोस्तों से अनुरोध करता हूं कि कुछ बदमाशों की गलती के लिए लड़ना नहीं चाहिए,” उन्होंने कहा। “चाहे कुछ भी हो, हम भाई हैं। जिसने कोई गलती की है, उसे कानूनी माध्यम से सबक सिखाएं। हम भी आपके साथ खड़े रहेंगे। जिसने भी गलती की है, हम उन्हें सबक सिखाने के लिए कदम उठाएंगे। मैं हमारे मुस्लिम परिजनों से अनुरोध करता हूं कि कृपया शांतिपूर्ण रहें। मैं भी आपके साथ खड़ा रहूंगा। ”

गृह मंत्री बसवराज बोम्मई ने भी एक वीडियो संदेश जारी किया, जिसमें कहा गया था कि लोगों को कानून अपने हाथ में नहीं लेना चाहिए। उन्होंने हिंसा की निंदा की और कहा कि इलाके में अतिरिक्त पुलिस बल भेजा गया है। उन्होंने कहा कि स्थिति को नियंत्रण में लाने के लिए पुलिस को “मुक्त हाथ” दिया गया है।

Advertisement

Leave a Reply

Share on facebook
Share on twitter
Share on pocket
Share on whatsapp
Share on telegram

Popular Searches