Skip to content
Advertisement

Jharkhand Budget: नहीं मिलेगी नौकरी तो राज्य सरकार देगी प्रोत्साहन राशि, शहरों में हॉस्टल बनाने का प्रस्ताव

Jharkhand Budget: झारखंड के वित्त मंत्री रामेश्वर उरांव ने साल 2023-24 के लिए पेश किये गये बजट में शिक्षा क्षेत्र के लिए कई घोषणाएं की  गई है. बजट भाषण के दौरान उन्होंने कहा कि प्रारंभिक शिक्षा और गुणवत्तापूर्ण शिक्षा सरकार की प्राथमिकता है और इसके लिए सरकार काम कर रही है. कौशल प्रशिक्षण के बाद जिन्हें काम नहीं मिलेगा बेरोजगार हैं तो उन्हें 6 महीने तक पुरुष अभ्यर्थी को 1000 रुपए, महिला और दिव्यांग अभ्यर्थियों को 1500 रुपए प्रति माह राशि दी जाएगी.

Jharkhand Budget: उन्होंने कहा कि राजकीय शिक्षा विकास में हम काम कर रहे हैं. 1825 पंचायत को जीरो ड्रॉपआउट घोषित किया गया है. वहीं राज्य के उन विद्यालयों में जहां बालक और बालिकाओं के लिए अलग-अलग शौचालय नहीं है उसके लिए अलग-अलग शौचालय के निर्माण के लिए योजना तय की गई है. अनुसूचित जाति अनुसूचित जनजाति अल्पसंख्यक कल्याण योजना के तहत के लिए मिलने वाली छात्रवृत्ति में भी बढ़ोतरी की गई है. इस समाज के लोगों को कम दर पर लोन उपलब्ध कराया जा रहा है और इसके तहत 6500 आवेदन अभी तक प्राप्त हुए हैं. जिससे 46 करोड़ रुपए का प्रावधान किया गया है.

Jharkhand Budget: रामेश्वर उरांव ने बजट भाषण में कहा कि अनुसूचित जाति और जनजाति छात्र छात्राओं को रांची, जमशेदपुर, हजारीबाग, धनबाद, देवघर और चाईबासा में बहुमंजिला छात्रावास का निर्माण का प्रस्ताव रखा गया है. सभी छात्रावास में छात्र छात्राओं को निःशुल्क भोजन एवं छात्रावास उपलब्ध कराया जाएगा. बजट में मॉडल लाइब्रेरी का प्रस्ताव किया गया है.

Advertisement
Jharkhand Budget: नहीं मिलेगी नौकरी तो राज्य सरकार देगी प्रोत्साहन राशि, शहरों में हॉस्टल बनाने का प्रस्ताव 1