Skip to content
Advertisement

Jharkhand: पंचायत प्रतिनिधियों को मानदेय देने की तरफ बढ़ी हेमंत सरकार

Jharkhand: झारखंड के पंचायती राज संस्थाओं में प्रतिनिधियों का मानदेय बढ़ने वाला है। फिलहाल बिहार के पंचायत प्रतिनिधियों को मिलने वाला मानदेय का पूरा विस्तृत ब्यौरा मंगाया गया है। इसका अध्ययन किया गया है। इसके साथ ही अन्य राज्यों से भी जानकारी मंगाई जा रही है। सबकुछ अध्ययन करने के बाद यहां के पंचायत प्रतिनिधियों का मानदेय बढ़ेगा।

मुखिया का 1000 से 2500 और उप मुखिया को 500 से बढ़ाकर 1500 हो जाएगा। उसी तरह जिला परिषद अध्यक्ष, उपाध्यक्ष, प्रमुख और उप प्रमुख का भी मानदेय बढ़ाया जाएगा। फिलहाल यह आकलन किया जा रहा है कि मानदेय बढ़ाने से सरकार पर कितना आर्थिक बोझ बढ़ेगा। जिला परिषद सदस्यों को मानदेय नहीं मिलता है ऐसे में उनके बारे में भी विचार किया जा रहा है।

Jharkhand: हेमंत सरकार मानदेय बढ़ाने को लेकर बढ़ी आगे, जल्द हो सकता है ऐलान

ग्रामीण विकास और पंचायती राज मंत्री आलमगीर आलम ने कहा की मानदेय को लेकर सरकार गंभीर है। काफी समय से मानदेय बढ़ाने की मांग उठ रही है। इसको लेकरसमीक्षा हो रही है। दूसरे राज्य से रिपोर्ट आने के बाद इसे लागू करने की दिशा में कदम उठाया जाएगा। इसे कैबिनेट की बैठक में पास करा कर लागू कर दिया जाएगा। जिला परिषद सदस्यों के बारे में भी विचार हो रहा है। बता दें कि फिलहाल जिला परिषद अध्यक्ष का मानदेय 10000. जिला परिषद उपाध्यक्ष का 7500, प्रमुख को 5000, उप प्रमुख को 3000, मुखिया को 1000, उप मुखिया को 500 मानदेय मिलता हैं। 

Also read: Jharkhand OBC Reservation: झारखंड के साथ ही अन्याय क्यूँ? कर्नाटक में भाजपा सरकार इसलिए गवर्नर को आरक्षण बढ़ाने में दिक्कत नहीं

Advertisement
Jharkhand: पंचायत प्रतिनिधियों को मानदेय देने की तरफ बढ़ी हेमंत सरकार 1