Skip to content
Advertisement

JHARKHAND NEWS : झारखण्ड के लिए गौरव का पल, राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मु करेंगी उच्च न्यायालय का उद्घाटन

Bharti Warish
Advertisement
Advertisement
JHARKHAND NEWS : झारखण्ड के लिए गौरव का पल, राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मु करेंगी उच्च न्यायालय का उद्घाटन 1

JHARKHAND NEWS : राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू बुधवार को झारखंड पहुँची. शाम पांच बजे हाईकोर्ट के नए भवन का उद्घाटन करेंगी। कार्यक्रम में सुप्रीम कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश डीवाई चंद्रचूड़ और मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन भी मौजूद रहेंगे। हाईकोर्ट भवन के उद्घाटन से पहले उनका कार्यक्रम राजभवन में पीवीटीजी समूह से संवाद का है।

25 मई को राष्ट्रपति खूंटी में स्वयं सहायता समूह की महिलाओं के सम्मेलन को संबोधित करेंगी। वे कुछ महिलाओं से संवाद भी करेंगी। वहां से राजभवन लौटेंगी और शाम चार बजे नामकुम स्थित ट्रिपल आईटी के दीक्षांत समारोह में शामिल होंगी। शाम साढ़े सात बजे राजभवन में नागरिक सम्मान और रात्रिभोज होगा।

अपने दौरे के क्रम में राष्ट्रपति झारखंड के वीर सपूतों को भी श्रद्धा-सुमन अर्पित करेंगी। 26 मई को सुबह 11 बजे वह दिल्ली के लिए रवाना हो जाएंगी। राष्ट्रपति की सुरक्षा में छह हजार पुलिसकर्मी तैनात होंगे। आईजी, डीआईजी और एसपी स्तर के सात आईपीएस अफसरों को इसमें लगाया गया है।

अधिकारियों को राष्ट्रपति की सुरक्षा में लगाया गया है। शहर की ट्रैफिक व्यवस्था को 24 सेक्टर में बांटा गया है। इसमें करीब 3000 पदाधिकारी व जवानों को तैनात किया गया है।

झारखंड हाईकोर्ट का नया भवन कई मायने में बेमिसाल है। इस हाईकोर्ट का क्षेत्रफल 165 एकड़ है। इसमें तैयार करने में करीब 550 करोड़ रुपये की लागत आई है। क्षेत्रफल की दृष्टि से देश के सभी हाईकोर्ट के परिसरों से बड़ा है।

जिसके कारण इसकी भव्यता विहंगम और देखते ही बन रही है, जबकि सुप्रीम कोर्ट का परिसर 22 एकड़ में सिमटा है।

68 एकड़ में हाईकोर्ट भवन के निर्माण में तीन ब्लॉक

करीब 68 एकड़ में तो सिर्फ हाईकोर्ट के भवन का निर्माण हुआ है। इसमें तीन ब्लॉक बनाए गए हैं। इसके अलावा अन्य क्षेत्र अलग है। न्यायिक ब्लॉक में दो तल हैं। इनमें पहले तल पर चीफ जस्टिस की कोर्ट सहित कुल 13 कोर्ट का निर्माण किया गया है। दूसरे तल पर 12 कोर्ट बनाए गए हैं। वहीं, दूसरा अधिवक्ताओं के लिए चैंबर का ब्लॉक बनाया गया है।

तीसरा टाइपिस्ट का ब्लॉक बनाया गया है। इसके अलावा 70 पुलिसकर्मियों के लिए बैरक का निर्माण किया गया है। महाधिवक्ता कार्यालय अलग से बनाया गया है। जिसमें महाधिवक्ता का चैंबर, चार अपर महाधिवक्ता और 95 सरकारी वकीलों के लिए चैंबर होगा। इसके अलावा इसमें 30 लोगों को बैठने के लिए कांफ्रेंस हाल भी बनाया गया है।

नए हाईकोर्ट भवन का कुल निर्माण क्षेत्र 68 एकड़ के करीब है। जिसमें पार्किंग, कोर्ट रूम, अधिवक्ता हाल, रजिस्ट्री भवन सहित अन्य सुविधाएं शामिल हैं।