Skip to content
Indian schoolchildren stand in line with English alphabets written on their slates at a government primary school in the outskirts of Hyderabad on June 13, 2011, on the opening day of the new academic year. The government of India's Andhra Pradesh state has introduced English as a second language from Class 1 onwards for the 2011-2012 academic year. India's National Knowledge Commission has admitted that no more than one percent of country's population uses English as a second language. AFP PHOTO/Noah SEELAM

JHARKHAND NEWS : इस आधार पर 30 हजार हेडमास्ट्रो की बहाली प्राइमरी स्कूल मे होगी

Bharti Warish
Indian schoolchildren stand in line with English alphabets written on their slates at a government primary school in the outskirts of Hyderabad on June 13, 2011, on the opening day of the new academic year. The government of India's Andhra Pradesh state has introduced English as a second language from Class 1 onwards for the 2011-2012 academic year. India's National Knowledge Commission has admitted that no more than one percent of country's population uses English as a second language. AFP PHOTO/Noah SEELAM

JHARKHAND NEWS : झारखंड के प्रारंभिक स्कूलों में 30 हजार प्रधानाध्यापकों की नियुक्ति होगी। मिडिल स्कूलों के अलावा प्राथमिक विद्यालयों में भी हेडमास्टर बहाल होंगे।

जिन प्राथमिक स्कूलों में 150 से ज्यादा बच्चे नामांकित हैं वहां प्रधानाध्यापक रखे जाएंगे। ऐसे विद्यालयों समेत अपग्रेड किए गए मिडिल स्कूलों में प्रधानाध्यापकों के पद सृजित किए जाएंगे। स्कूली शिक्षा व साक्षरता विभाग ने इसकी तैयारी शुरू कर दी है।


राज्य में करीब 22 हजार प्राथमिक स्कूल और 13 हजार मिडिल स्कूल हैं। राज्य में 3296 मिडिल स्कूलों में ही प्रधानाध्यापक के पद सृजित हैं, जिनमें से मात्र 82 में हेडमास्टर कार्यरत हैं, बाकी खाली है।

करीब 9,729 प्राथमिक विद्यालय अपग्रेड हुए थे। इनमें प्रधानाध्यापकों के पद का सृजन बाकी है। इन स्कूलों में पहले प्रधानाध्यापकों का पद सृजन होगा। सरकार ने पिछले महीने से इन अपग्रेडेड स्कूलों में शिक्षकों के तीन-तीन पद यानि कुल 29,175 पद सृजित किए थे।

इन स्कूलों को विज्ञान व गणित के 9729 , सामाजिक अध्ययन के 9729 वभाषा के 9717 पद सृजित हुए हैं। इन पदों पर दो चरणों में भर्ती होगी। पहले चरण में 14996 और दूसरे में 14,179 पदों पर भर्ती होगी।

150 नामांकन पर प्राइमरी में भी हेडमास्टर राज्य के प्राथमिक स्कूलों में अभी प्रधानाध्यापक नहीं हैं। यहां स्कूल के वरीय शिक्षक प्रधान शिक्षक की भूमिका से काम करते हैं। अब इन स्कूलों में भी प्रधानाध्यापक देने की तैयारी है।

जिन प्राइमरी स्कूलों में 150 से अधिक बच्चे होंगे वहां प्रधानाध्यापक का पद सृजित होगा। इसके लिए शिक्षा विभाग ने जिलों से रिपोर्ट मांगी है। विभाग जानकारी जुटा रहा है कि कितने स्कूलों में 150 से कम और इससे अधिक छात्र-छात्रा नामांकित हैं।

इस आधार पर पद सृजन होगा। शिक्षा विभाग की माने तो सभी स्कूलों में प्रधानाध्यापक के पद सृजित कर दिये जाएंगे। जब 150 से अधिक नामांकन हो जाएगा तो उनमें भी प्रधानाध्यापकों की नियुक्ति की जा सकेगी।

Leave a Reply