Skip to content
Advertisement

Jharkhand Vidhansabha: विधानसभा में गूंजा अवैध उत्खनन का मुद्दा

Jharkhand Vidhansabha: झारखंड विधानसभा में शनिवार को अवैध खनन का मामला गूंजा विपक्ष ने अवैध खनन मामले की विधानसभा की कमेटी से जांच कराने की मांग की विपक्ष के हंगामे के बीच विधानसभा की कार्यवाही दोपहर 12:30 बजे तक स्थगित कर दी गई lइससे पहले भाजपा विधायक बिरंची नारायण ने कहा कि 3 साल में राज्यभर में अवैध पत्थर खनन और अवैध परिवहन के हजारों मामले सामने आए हैं ,इसमें अवैध विस्फोटकों के इस्तेमाल का भी मामला सामने आया हैl उन्होंने कहा कि राज्यभर में लगभग 20 हजार करोड का खनन घोटाला हुआ है lविस्फोटक के दुरुपयोग का भी मामला सामने आया हैl यह सीधे-सीधे एनआईए का मामला है l इनकी एनआईए से जांच होनी चाहिएl

Jharkhand Vidhansabha: विपक्ष ने की विस की कमेटी से जांच कराने की मांग

बिरंची नारायण ने कहा कि सरकार अपने कर्मों को छिपाने के लिए कभी सीबीआई जांच नहीं कराएगी lलेकिन स्पीकर को इसकी विधानसभा की समिति से जांच करानी चाहिए l
नहीं तो इतिहास उन्हें कभी माफ नहीं करेगा l
इस पर जवाब में मंत्री बादल पत्रलेख ने कहा कि हेमंत सरकार में रघुवर सरकार से 3 गुना ज्यादा राजस्व वसूली खनन से हुई है उन्होंने कहा कि रघुवर सरकार में 3 साल में 15784 करोड़ रुपए राजस्व प्राप्त हुआ था, जबकि हमारी सरकार में 3 साल में 30949करोड राजस्व खनन से मिला है l

Jharkhand Vidhansabha: मंत्री बादल ने कहा एक्सप्लोसिव एक्ट भारत सरकार की जिम्मेदारी ना कि राज्य सरकार की

उन्होंने कहा कि जहां तक एक्सप्लोसिव के दुरुपयोग का मामला है तो यह भारत सरकार की जिम्मेदारी हैl एक्सप्लोसिव एक्ट भारत सरकार से नियंत्रित होता है l

भाजपा विधायक भानु प्रताप शाही ने कहा कि साहिबगंज और पलामू में कई पहाड़ गायब हो गए lराजस्व क्या मिल रहा है या विषय नहीं है विषय अवैध खनन का है lउन्होंने स्पीकर से मामले की जांच के लिए विधानसभा की कमेटी बनाने की मांग की lउन्होंने कहा कि हम लोग अब आंख में पट्टी बांधकर नहीं बैठेंगे l
Story by -Divya Kumari

Advertisement
Jharkhand Vidhansabha: विधानसभा में गूंजा अवैध उत्खनन का मुद्दा 1