Skip to content
20220911_111238
Advertisement

Rajauli Dam Masjid: पानी से बाहर आई 40 सालों से डूबी मस्जिद, देखने के लिए लोगों की उमड़ी भीड़

zabazshoaib

Bihar Nawada: बिहार के नवादा जिले में सुखाड़ के कारण नदियों तालाबों और डैम का जलस्तर काफी कम हो गया है अमूमन जल स्तर का कब होना सुखाड़ का प्रमुख कारण होता है परंतु नवादा जिले के रजौली प्रखंड स्थित फुलवरिया डैम में जलस्तर कम होने से एक अनोखा नजारा सामने आया है जो सोशल मीडिया पर चर्चा का विषय बना हुआ है।

Advertisement

दरअसल नवादा जिले के फुलवरिया डैम में दशकों पहले एक मस्जिद जलमग्न हो गई थी जो सुखाड़ के कारण अब पूरी तरह से पानी के ऊपर आ चुकी है स्थानीय ग्रामीणों के मुताबिक यह नूरी मस्जिद के नाम से प्रसिद्ध है और डैम के बढ़े हुए जलस्तर के कारण या डूब गया था परंतु अब या ऊपर आ चुका है और लोगों के बीच इसे लेकर चर्चाएं तेज हैं पहले केवल मस्जिद का गुंबद ही पानी के ऊपर थोड़ा-थोड़ा दिखाई देता था अब पूरी मस्जिद दिखाई दे रही है।

Also Read: Phulvaria Dam Masjid: दशकों से डैम में डूबी मस्जिद का सच्च आया सामने, 120 साल पुराना इतिहास आया बाहर

दशकों पहले पानी में डूबने वाली नूरी मस्जिद की इमारत पूरी तरह से सुरक्षित है मस्जिद की जमीन से ऊपरी गुंबद तक की ऊंचाई करीब 30 फीट है रजौली प्रखंड के फुलवरिया डैम के दक्षिणी छोर पर स्थित चिरैला गांव के पास 120 वर्ष पुराना नूरी मस्जिद पूरी तरह से दिखाई देने लगी है जो आसपास के ग्रामीणों के साथ पूरे बिहार और झारखंड में कौतूहल का विषय बना हुआ है अनेकों युवाओं का कहना है कि हमने हमेशा से जिस क्षेत्र को जल मग्न देखा है उस क्षेत्र में वहां अचानक से एक मस्जिद को देखकर हैरान है।

Video देखने के लिए यहां क्लिक करें

नवादा जिले के विभिन्न इलाकों से लोग अपने परिजनों के साथ इस मस्जिद को देखने के लिए आ रहे हैं सिर्फ इतना ही नहीं बल्कि पड़ोसी राज्य झारखंड सहित अन्य स्थानों से भी लोग इस मस्जिद को देखने के लिए पहुंच रहे हैं फुलवरिया डैम में जलस्तर घटने से मस्जिद पूरी तरह से दिखने लगी है पहले पानी का लेवल घटता था तो मस्जिद के ऊपर के गुंबद का हिस्सा दिखता था परंतु इस बार पूरी मस्जिद दिखाई दे रही है

Leave a Reply