Share on facebook
Share on twitter
Share on pinterest
Share on email
Share on print
Share on whatsapp
Share on telegram

बंगाल: बुधवार को मुर्शिदाबाद में पकड़े गए टोपी और लुंगी में 6 संघ परिवार (BJP कार्यकर्त्ता) से जुड़े पत्थरबाजों में से दो को शुक्रवार को पांच दिन की पुलिस हिरासत में भेज दिया गया। बाकी के तीन, सभी नाबालिगों को गंभीर अपराधों के लिए बुक करने के बाद 14 दिनों के लिए जेल में रखा गया।

पुलिस ने कहा कि छठे लड़के का इलाज अस्पताल में पेट दर्द के लिए किया जा रहा था। उन्होंने कहा कि 16 से 17 आयु  के सभी चार नाबालिग उच्च माध्यमिक छात्र हैं।

शुक्रवार को एक संवाददाता सम्मेलन में, मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने एक विशेष समुदाय को बदनाम करने और बंगाल को “उजाड़ने” का प्रयास करने के लिए “(भाजपा) ” पर ताना निशाना |DfWGw6CU8AAqzdv-01.jpeg

बता दे के आरएसएस के छात्र संगठन एबीवीपी के 21 वर्षीय सदस्य अभिषेक सरकार जो स्थानीय रूप से एक भाजपा कार्यकर्ता के रूप में जाने जाते हैं, और पांच अन्य को कथित रूप से राधामाधतला गांव में रेलवे पटरियों के पास अपने कपड़े बदलते हुए (टोपी, कुरत और लुंगी) और एक गुजरते हुए रेल इंजन को पत्थर मारते देखा गया था। ग्रामीणों ने उन्हें पकड़ लिया और पुलिस के हवाले कर दिया।

युवकों ने दावा किया कि उन्होंने अपने YouTube चैनल के वीडियो की खातिर लुंगी और टोपी पहन रखी थी । लेकिन वे ऐसे किसी भी चैनल के अस्तित्व को साबित नहीं कर सके

हाल ही में जामिया में हुए बवाल में जामिया के विद्यार्थियों पर कतिथ झूठा आरोप लगाया गया था के जामिया के विद्यार्थियों ने आगजनि की |
AMU में हुए पुलिस बर्बरता CCTV में कैद हो गई जिसमें साफ दिख रहा है के किस तरह पुलिस छात्रों पर बर्बरता दिखाई है |

Leave a Reply