Skip to content

नीतीश सरकार में शिक्षा मंत्री बने मेवालाल चौधरी ने दिया इस्तीफा, भ्रष्टाचार के लगे हैं गंभीर आरोप

tnkstaff

नीतीश कुमार एक बार फिर बिहार के मुख्यमंत्री के रूप में मुख्यमंत्री की शपथ ग्रहण कर चुके हैं साथ ही कई मंत्रियों ने भी शपथ ग्रहण किया है लेकिन उन सब में एक व्यक्ति जो शपथ ग्रहण के बाद से ही चर्चा का विषय बना हुआ था उन्होंने मंत्री पद से इस्तीफा दे दिया है दरअसल हम बात कर रहे हैं नीतीश सरकार में बनाए गए शिक्षा मंत्री मेवालाल चौधरी के शिक्षा मंत्री की शपथ लेने के बाद मेवालाल चौधरी लगातार विपक्ष के निशाने पर थे.

मेवालाल चौधरी पर भ्रष्टाचार के गंभीर आरोप लगे हुए हैं मेवालाल पर लगे भ्रष्टाचार के आरोपों को लेकर मुख्य विपक्षी दल राजद ने उन पर लगातार हमले किए राजद ने आरोप लगाया कि भ्रष्टाचार और उनकी पत्नी की संदिग्ध मौत के मामले में मेवालाल चौधरी कथित रूप से सन लिप्त है जिसे लेकर राजद ने जांच की भी मांग की है

मालूम हो कि 2017 में मेवा लाल चौधरी भागलपुर के सबौर कृषि विश्वविद्यालय के कुलपति रहते हुए कॉलेज के नियुक्ति में भ्रष्टाचार करने का आरोप है मेवालाल पर आरोप है कि कुलपति रहते हुए उन्होंने 161 सहायक प्रोफेसर की गलत तरीके से बहाली की इस मामले को लेकर उन पर प्राथमिकी भी दर्ज है इस्तीफा देने के बाद मेवालाल चौधरी ने सफाई देते हुए कहा कोई भी केस तब साबित होता है जब आपके खिलाफ कोई चार्ट शीट हुए हो या कोर्ट ने कुछ फैसला किया हो ना हमारे खिलाफ अभी तक कोई 4 सीट हुई है और ना ही हमारे ऊपर कोई आरोप दर्ज हुआ है.

Leave a Reply