CM Nitish kumar

नीतीश कैबिनेट में नहीं है कोई मुस्लिम चेहरा, विपक्ष हुआ हमलावर

amirtnk
Share on facebook
Share on twitter
Share on email
Share on pocket

बिहार में एक बार फिर नीतीश कुमार सत्ता में वापसी कर चुके हैं मंगलवार को नीतीश मंत्रिमंडल का पूरी तरह से गठन हो चुका है मंत्रियों को उनका विभाग भी बांट दिया गया है लेकिन नीतीश कुमार के सामने एक नया सवाल खड़ा हो गया है कि आखिर उन्होंने अपने मंत्रिमंडल में किसी भी मुस्लिम चेहरे को क्यों शामिल नहीं किया है इसे लेकर विपक्ष हमलावर है

Advertisement

Also Read: नीतीश सरकार के मंत्रियों को मिला विभाग, जानिए किसे मिला कौनसा मंत्रालय

राष्ट्रीय जनता दल के प्रवक्ता सारिका पासवान ने नीतीश कैबिनेट मैं किसी भी अल्पसंख्यक को जगह नहीं देने पर सवाल खड़े किए हैं उन्होंने कहा कि नीतीश सरकार में मंत्री बनाए गए मेवालाल चौधरी पर भ्रष्टाचार के आरोप हैं फिर भी उन्हें मंत्री बनाया गया है लेकिन किसी भी अल्पसंख्यक को मंत्री पद नहीं दिया गया. इस पर पलटवार करते हुए जनता दल यूनाइटेड के प्रवक्ता अजय आलोक ने कहा की जनता दल यूनाइटेड अल्पसंख्यक ओं का विशेष ध्यान रखती है साथ ही नीतीश कुमार अल्पसंख्यक ओं के प्रति संवेदनशील है परंतु इस बार चुनाव में अल्पसंख्यकों का ठेका महागठबंधन और ओवैसी लेकर घूम रहे थे

अजय आलोक ने महागठबंधन सहित असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी एआईएमआईएम को लेकर भी बड़ी बात कही है उन्होंने एमआईएम के जीतने वाले पांच विधायकों का कसूरवार महागठबंधन को ठहराया है अजय आलोक ने कहा कि महागठबंधन की गलती के कारण ही हैदराबाद से मुस्लिम लीग का फिर से उदय होगा. इधर ए आई एम आई एम के प्रदेश अध्यक्ष और अमोल विधायक अख्तरुल इमान ने एनडीए के सवाल करते हुए कहा कि मुकेश सैनी भी चुनाव हार चुके हैं लेकिन उन्हें मंत्री पद दिया गया?

नीतीश कैबिनेट में इस बार 14 लोगो को मंत्री बनाया गया है जिनमें 4 पिछड़ा वर्ग, 3 अति पिछड़ा वर्ग, 4 सवर्ण और 3 दलित मंत्री शामिल हैं.

Advertisement

Leave a Reply

Share on facebook
Share on twitter
Share on pocket
Share on whatsapp
Share on telegram

Popular Searches