Skip to content
Advertisement

झारखंड के सरकारी स्कूलों के बच्चों को डिजिटल कंटेंट पहुंचाने की तैयारी कर रहा है शिक्षा विभाग Jharkhand Government School

Jharkhand Government School: झारखंड में बढ़ते कोरोना वायरस संक्रमण के कारण राज्य की सभी शिक्षण संस्थानों के साथ-साथ सरकारी और निजी विद्यालय भी बंद करने के आदेश दिए गए हैं. विद्यालय बंद होने के कारण राज्य के सरकारी स्कूलों के विद्यार्थियों के पास पठन-पाठन का कोई विकल्प नहीं बचा है. ऐसे में राज्य के सरकारी स्कूलों के छात्र-छात्राओं को फिर से डिजिटल कंटेंट पहुंचाने की प्रक्रिया शुरू करने की तैयारी की जा रही है.

पिछले वर्ष की तरह इस बार भी वर्ग, विषय और चैप्टर के आधार पर प्रत्येक दिन का कंटेंट तैयार किया जा रहा है. शुरुआत में व्हाट्सएप ग्रुप के माध्यम से अधिक से अधिक बच्चों तक डिजिटल कंटेंट को पहुंचाया जाएगा. व्हाट्सएप ग्रुप के जरिए बच्चों या फिर उनके अभिभावकों के पास कंटेंट भेजे जाएंगे जिससे बच्चे अभ्यास कर सकेंगे. बच्चों को ऑडियो और वीडियो के माध्यम से भी गणित समेत अन्य विषयों की जानकारी दी जाएगी.

Also Read: वित्त मंत्री रामेश्वर उरांव ने कहा, केंद्र का ‘वन नेशन-वन वैक्सीन’ नारा फेल, झारखंड को 48 अरब का अतिरिक्त खर्च

राज्य सरकार के द्वारा साल 2020 में अप्रैल के पहले सप्ताह से ही डिजिटल कंटेंट बच्चों को उपलब्ध कराना शुरू किया गया था. 30 फ़ीसदी बच्चों तक ही डिजिटल कंटेंट पहुंचाया जा रहे थे. 46 लाख बच्चों में से करीब 15 लाख बच्चों तक डिजिटल कंटेंट नियमित रूप से पहुंच रहे थे. बाकी बच्चों के लिए ऑफलाइन या किसी दूसरे माध्यम से पढ़ाने की भी तैयारी की जा रही है. डिजिटल कंटेंट के साथ-साथ सभी बच्चों के हाथों में पाठ्य पुस्तकें हो इसके लिए भी निर्देश जारी किए जा चुके हैं जल्द से जल्द सभी बच्चों को किताबें मिल सके इसके लिए स्कूलों तक किताब पहुंचाने की गाइडलाइन भेजी गई है. अगले 10 दिनों में सभी बच्चों तक किताबें पहुंचा दी जाएंगी.

Advertisement
झारखंड के सरकारी स्कूलों के बच्चों को डिजिटल कंटेंट पहुंचाने की तैयारी कर रहा है शिक्षा विभाग Jharkhand Government School 1