exam

शिक्षा मंत्रालय ने साफ किया कि मंत्रालय NEET और JEE को लेकर पुनर्विचार नहीं करने जा रहा है

amarsid
Share on facebook
Share on twitter
Share on email
Share on pocket

शिक्षा मंत्रालय (Ministry of Education) के उच्च पदस्थ सूत्रों ने बताया कि NEET और JEE एक्जाम को लेकर कोई पुनर्विचार नहीं

Advertisement
 किया जा रहा है. छात्र-छात्राएं यह परीक्षाएं देना चाहते हैं. इन परीक्षाओं में कोरोना वायरस (Coronavirus) महामारी को लेकर एसओपी (SOP) का दृढ़ता से पालन किया जाएगा. परीक्षा केंद्रों पर एसओपी लागू करने के लिए प्रशिक्षण जारी है. सूत्रों ने बताया कि राज्यों से अनुरोध किया गया है कि वे बाढ़ प्रभावित इलाकों के छात्र-छात्राओं की मदद करें.

तमाम उठापटक के बाद शिक्षा मंत्रालय ने साफ कर दिया कि मंत्रालय NEET और JEE को लेकर पुनर्विचार नहीं करने जा रहा है. National Testing Agency के मुताबिक बच्चों का साल बचाने के लिए परीक्षाएं कराना ज़रूरी है. सुप्रीम कोर्ट ने भी कहा है कि परीक्षाएं कराना ज़रूरी है. Unlock 4 की प्रक्रिया सितंबर से शुरू हो गई है. ऐसे में इंजीनियरिंग और मेडिकल के सत्र को और नहीं टाला जा सकता.

Also Read: JEE (Mains) और NEET की परीक्षा स्‍थगित नहीं करना चाहती है सरकार: सूत्र

उधर कांग्रेस संबद्ध छात्र संगठन एनएसयूआई (NSUI) ने नीट (NEET 2020) और जेईई (JEE Main 2020) परीक्षाओं को टालने और महामारी के दौरान विद्यार्थियों की छह महीने की फीस माफ करने की मांग को लेकर बुधवार से अनिश्चितकालीन भूख हड़ताल शुरू कर दी है. नेशनल स्टूडेंट्स यूनियन ऑफ इंडिया (NSUI) के अध्यक्ष नीरज कुंदन और इस छात्र संगठन की दिल्ली इकाई के अध्यक्ष ने आठ अन्य सदस्यों के साथ भूख हड़ताल शुरू की है. उन्होंने कोविड-19 महामारी के दौरान विश्वविद्यालयों द्वारा परीक्षाएं आयोजित न करने की मांग भी की है.

 

 

Advertisement

Leave a Reply

Share on facebook
Share on twitter
Share on pocket
Share on whatsapp
Share on telegram

Popular Searches