जेएनयू: छात्रों के विरोध-प्रदर्शन के आगे झुकी सरकार, कम की बढ़ी हुई फीस

Shah Ahmad
Share on facebook
Share on twitter
Share on email
Share on pocket

जवाहर लाल नेहरू यूनिवर्सिटी (JNU) के छात्रों के विरोध-प्रदर्शन ने सरकार को झुकने को मजबूर कर दिया. मोदी सरकार ने आखिरकार बढ़ी हुई हॉस्टल फीस रिवाइज कर दी है जो कि आंशिक रूप से प्रस्तावित फीस स्ट्रक्चर से कम है. साथ ही गरीब छात्रों को आर्थिक सहायता देने के लिए एक योजना प्रस्तावित की गई है. इसकी जानकारी एचआरडी मिनिस्ट्री ने ट्वीट कर दी.

जेएनयू: छात्रों के विरोध-प्रदर्शन के आगे झुकी सरकार, कम की बढ़ी हुई फीस 1

बता दें कि जेएनयू प्रशासन ने हॉस्टल में इस्टैबलिशमेंट चार्जेज, क्रॉकरी और न्यूजपेपर आदि की कोई फीस नहीं बढ़ाई थी. लेकिन रूम रेंट में भारी बढ़ोत्तरी की थी. पहले जहां सिंगल सीटर हॉस्टल का रूम रेंट 20 रुपये था वो प्रशासन ने बढ़ाकर 600 रुपये कर दिया था. वहीं डबल सीटर का रेंट दस रुपये से बढ़ाकर 300 रुपये किया गया था. ये पहले की अपेक्षा काफी ज्यादा था. इसके अलावा प्रशासन ने एक नई मद जोड़ी थी.

वहीं हॉस्टल में पहले छात्रों को कभी सर्विस चार्ज या यूटिलिटी चार्जेज जैसे कि पानी और बिजली के पैसे नहीं देने होते थे. जेएनयू प्रशासन की ओर से इसमें भी बढोत्तरी की गई थी. यूटिलिटी चार्जेज के तौर पर (एज पर एक्चुअल) यानी इस्तेमाल के अनुसार बिल का प्रावधान कर दिया गया था. जिसके अनुसार स्टूडेंट्स को इस्तेमाल के हिसाब से इसका खर्च देना पड़ता, वहीं सर्विस चार्जेज के तौर आईएचए कमेटी ने 1700 रुपये महीने फीस जोड़ दी थी, ये एकदम नई मद थी. प्रति महीने इतनी रकम हर छात्र को देनी पड़ती. इसके अलावा प्रशासन ने वन टाइम मेस सिक्योरिटी जो कि पहले 5500 रुपये थी, इसे भी 200 पर्सेंट से ज्यादा बढ़ाकर 12000 रुपये किया गया था.

जेएनयू: छात्रों के विरोध-प्रदर्शन के आगे झुकी सरकार, कम की बढ़ी हुई फीस 2

इसे लेकर ही छात्र लंबे समय से प्रदर्शन कर रहे थे. जेएनयू छात्रसंघ ने बुधवार को होने जा रही एग्जीक्यूटिव काउंसिल की बैठक के ठीक पहले बैठक स्थल के बाहर धरना दिया था. वहीं एबीवीपी ने भी बुधवार को यूजीसी कार्यालय के बाहर प्रदर्शन किया था. फीसवृद्धि के इस पूरे मामले में देश भर के संस्थानों के छात्र संगठन एकजुट होकर जेएनयू के सपोर्ट में आ गए थे. जेएनयू मामले को लेकर सोशल मीडिया में भी लोगों ने फीसवृद्धि को गलत ठहराया था. वहीं कुछ लोग इसके समर्थन में भी थे.

ये है रिवाइज्ड फीस स्ट्रक्चर

JNU फीस में

JNU EC meeting ends. Decision on partial rollback of hike in hostel fee:

Room rent (single): Rs 200.. Earlier– 20 revised to Rs 600

Room rent (double): Rs 100.. Earlier– 10 revised to 300

Caution deposit for Mess: Rs 5,500.. Earlier– 5500.. revised to 12000

Service charges: As per actuals..

Utility Charges: Rs 1700.. .. Earlier– No charge revised to 1700

EWS students will receive assistance

Leave a Reply

In The News

PM मोदी, राष्ट्रपति और उपराष्ट्रपति के लिए अमेरिका से आ रहा है 8,400 करोड़ से बनी B-777 की दूसरा एयरक्राफ्ट

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और उपराष्ट्रपति नायडू के लिए अमेरिका में 8,400 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित…

VBU BA, BSc, BCom Admission: क्या आपका भी नहीं आया है मेरिट लिस्ट में नाम, तो ये है उपाय

VBU: जिन छात्र/छात्राओं का नाम पहली और दूसरी मेरिट लिस्ट में नहीं आया था उनके लिए विनोबा भावे विश्विद्यालय ने…

Sainik School Admission: सैनिक स्कूलों में एडमिशन की प्रक्रिया शुरू, इस दिन होगी एंट्रेंस परीक्षा

Sainik School Admission: ऑल इंडिया सैनिक स्कूल एंट्रेंस एग्जाम 2021 (AISSEE 2021) के लिए आवेदन की प्रक्रिया 20 अक्टूबर से शुरू…

NSP Post Matric Scholarship: पाए 50,000 तक छात्रवृति! ऐसे करें आवेदन

नेशनल स्कालरशिप स्कीम के तहत भारत में पढ़ रहे Class 11 से डिग्री तक के छात्र, छात्राओं को 50,000 तक…

झारखंड: हाईस्कूल शिक्षकों की नियुक्ति रद्द करने के आदेश पर सुप्रीम कोर्ट ने लगाई रोक

News Desk: झारखण्ड नियोजन निति को सुप्रीम कोर्ट अवैध करार देते हुए झारखण्ड के 13 अनुसूचित जिलों में शिक्षकों की…

JAC: कक्षा 9 और 11 का हो रहा रजिस्ट्रेशन, जाने क्या है प्रक्रिया

Ranchi: झारखंड अकादमिक कौंसिल ने 07 अक्टूबर 2020 को अधिसूचना जारी किया है, कक्षा 9 और 11 के छात्र छात्राओं…

जोहार 😊

Popular Searches