Skip to content

Jharkhand Teacher Vacancy: झारखंड में सरकारी शिक्षक बनने का सुनहरा अवसर, जानिए पूरी जानकारी

Shah Ahmad
Advertisement

Jharkhand Teacher Vacancy: झारखंड में सरकारी शिक्षक बनने का सुनहरा अवसर मिल रहा है. राज्य में कस्तूरबा गांधी बालिका आवासीय विद्यालयों की तर्ज पर खुले 57 झारखंड बालिका आवासीय विद्यालयों में फिलहाल शिक्षिकाओं की नियुक्ति अनुबंध पर ही होगी। स्थायी नियुक्ति नहीं होने से विद्यालयों में बाधित हो रहे पठन-पाठन को देखते हुए यह निर्णय लिया गया है।

Advertisement
Advertisement

मुख्य सचिव की अध्यक्षता वाली राज्य कार्यकारिणी समिति (झारखंड शिक्षा परियोजना परिषद की) ने इसपर सहमति प्रदान कर दी है। साथ ही इसके लिए दो विकल्प दिए गए हैं। या तो विकास आयुक्त की अध्यक्षता वाली प्रशासी पदवर्ग समिति या फिर मुख्य सचिव के माध्यम से मुख्यमंत्री की स्वीकृति लेेकर नियुक्ति की कार्रवाई शुरू की जाए। झारखंड बालिका आवासीय विद्यालयों की स्थापना वर्ष 2015 में हुई थी। स्थापना के साथ ही प्रत्येक विद्यालयों में शिक्षिकाओं के 13-13 तथा शिक्षकेत्तर कर्मियों के 12-12 पद सृजित किए गए थे। शिक्षिकाओं की स्थायी नियुक्ति होनी थी जबकि कर्मियों को आउटसोर्स पर रखा जाना था।

इसे भी पढ़े- अनुबंध पर नौकरी करने वालों को खुशखबरी, नए नियम से अनुबंध कर्मी होंगे बहाल

इधर, सात वर्ष में भी शिक्षिकाओं की नियुक्ति नहीं हो सकी। पास के कस्तूरबा गांधी आवासीय बालिका विद्यालय की एक-एक शिक्षिका की प्रतिनियुक्ति कर पठन-पाठन कराया जाता रहा। अब झारखंड बालिका आवासीय विद्यालयों के अपने भवन बन जाने से इनमें शिक्षिकाओं एवं कर्मियों की नियुक्ति की कार्रवाई शुरू की जा रही है। स्थायी नियुक्ति होने तक पांच-पांच शिक्षिका अनुबंध पर बहाल की जा सकेंगी।

विद्यालयों में सुरक्षा के लिए तैनात की जाएंगी महिला होमगार्ड:

राज्य कार्यकारिणी समिति ने प्रत्येक झारखंड बालिका आवासीय विद्यालयों में दो-दो महिला होमगार्ड को तैनात करने पर भी सहमति दी गई। महिला होमगार्ड की तैनाती कर्मियों के स्वीकृत 13 पदों में से ही की जा सकेगी। साथ ही विद्यालय में सभी नियुक्ति में महिलाओं की प्राथमिकता दी जाएगी।

Leave a Reply