Skip to content
Advertisement

JPSC ने जारी किया 2005 में निकले विज्ञापन का रिजल्ट, अधिकारी बनने का सपना साकार हुआ

जेपीएससी (JPSC) ने प्रथम उपसमाहर्ता (सीमित) प्रतियोगिता परीक्षा का शनिवार को रिजल्ट जारी कर दिया। 18 साल पहले 2005 में इसका विज्ञापन निकला था। 50 सीटों के लिए हुई परीक्षा में 50 अभ्यर्थी सफल हुए हैं। राजेश कुमार स्टेट टॉपर बने हैं, जबकि मनोज कुमार गोप सेकेंड और मुकेश कुमार थर्ड टॉपर हैं।

13 अप्रैल 2006 को रांची के 16 केंद्रों पर परीक्षा हुई थी। इसमें 8254 अभ्यर्थी शामिल हुए थे। परीक्षा में अनियमितता को लेकर विवाद हुआ। मामला हाईकोर्ट गया। इस बीच तत्कालीन राज्यपाल सैय्यद सिब्ते रजी ने परीक्षा की निगरानी जांच का आदेश दिया था। जांच रिपोर्ट के आधार पर 12 जून 2013 को यह परीक्षा रद्द कर दी गई।

Also Read: Government Job Recruitment 2023: पंचायत सहायक के 3544 पदों पर भर्ती का नोटिफिकेशन जारी

सरकार की पहल पर आयोग ने 19 अक्तूबर 2015 को फिर से परीक्षा लेने की सूचना जारी की। इसमें चार हजार अभ्यर्थी योग्यता या फिर कार्य अनुभव नहीं रहनें के कारण छंट गए। जेपीएससी ने पहले 23 दिसंबर और फिर 29 दिसंबर 2019 को परीक्षा तिथि तय की, लेकिन अभ्यर्थियों के अनुरोध पर इसे तीन जनवरी 2020 किया गया। तीन जनवरी 2020 को रांची के 17 केंद्रों में दो पालियों में परीक्षा ली गई।

JPSC ने परीक्षार्थियों की आपत्ति के बाद 2020 में संसोधित आंसर भी जारी किया था

इस परीक्षा के अलावा 28 पदों के लिए छठी सीमित उप समाहर्ता परीक्षा एक साथ ली गई। इस परीक्षा में लगभग चार हजार अभ्यर्थी शामिल हुए थे। परीक्षा के आधार पर 10 जनवरी 2020 को मॉडल आंसार की जारी किया गया। परीक्षार्थियों के दावे के बाद जेपीएससी ने 24 दिसंबर 2020 को संशोधित आंसर भी जारी किया।

Advertisement
JPSC ने जारी किया 2005 में निकले विज्ञापन का रिजल्ट, अधिकारी बनने का सपना साकार हुआ 1