Skip to content
Advertisement

Lalu Yadav: लालू यादव की बेटी के घर CBI पूछताछ के लिए पहुँची, हो सकती है बड़ी कार्रवाई

Divya Kumari
Advertisement
Lalu Yadav: लालू यादव की बेटी के घर CBI पूछताछ के लिए पहुँची, हो सकती है बड़ी कार्रवाई 1

Delhi: जमीन घोटाले मामले में राबड़ी देवी के बाद अब लालू यादव और उनकी बेटी मीसा भारती से आज दिल्ली में पूछताछ चल रही है. मीसा भारती के आवास के बाहर सुरक्षा बढ़ा दी गई है. इससे पहले बीते सोमवार को बिहार के पटना में राबड़ी देवी से सीबीआई ने 4 घंटे तक पूछताछ की. जिसे लेकर बिहार में राजनीतिक पारा काफी हाई था. बिहार में स्ता पक्ष के नेताओं ने तो इस पूछताछ को होली मिलन तक करार दिया था.

Advertisement
Advertisement

Lalu Yadav: 15 मार्च को कोर्ट में पेश होने के लिए समन

इस मामले में कोर्ट ने लालू यादव, राबड़ी देवी, मीसा भारती, समेत 14 आरोपियों को समन भेजकर 15 मार्च को कोर्ट में पेश होने को कहा है. हालांकि कि लालू यादव अभी कुछ दिन पहले ही सिंगापुर से किडनी का ऑपरेशन करा कर घर लौटे हैं और मेडिकल रेस्ट पर हैं. ऐसे में कोर्ट में उनका पेश होना अभी असंभव ही लगता है. वहीं, लालू यादव और उनकी बेटी मीसा से आज होने वाली पूछताछ पर सबकी निगाहें टिकीं हैं.

Lalu Yadav: 14 साल पुराना है ये मामला

आपको बता दें कि ये मामला 2004 से 2009 का है, जब लालू यादव केंद्रीय रेल मंत्री थे. इस मामले में लालू यादव के अलावा उनकी पत्नी राबड़ी देवी, बेटी मीसा भारती और हेमा यादव समेत 12 अन्य लोगों के खिलाफ चार्जशीट दाखिल की जा चुकी है. आरोप के मुताबिक जब राजद सुप्रीमो लालू यादव रेल मंत्री थे, तब उन्हें और उनके परिवार वालों को रेलवे में नौकरी देने के बदले कई लोगों से जमीन गिफ्ट में मिली थी या फिर उनसे नगद बेच दी गई.

Also read: Lalu Yadav: हाईकोर्ट ने CBI को दिया 4 हफ़्ते का समय, लालू यादव की बढ़ सकती है सजा

Lalu Yadav: क्या है लालू और उनके परिवार पर आरोप

दरअसल इस घोटाले को लेकर सीबीआई का कहना है कि पटना में लालू यादव के परिवार ने 1.05 लाख वर्ग फीट जमीन पर कथित रूप से कब्जा कर रखा है. जिसकी लेन देन नगद हुई थी और ये जमीनें बहुत ही कम कीमत पर बेच दी गईं थी. इसके अलावा सीबीआई ने जांच में ये भी पाया कि रेलवे में सब्स्टीट्यूट की भर्ती को लेकर कोई विज्ञापन भी नहीं निकाला गया था, लेकिन जिसने भी लालू यादव और उनके परिवार को जमीन दी थी, उनके घर वालों और रिश्तेदारों को हाजीपुर जबलपुर, जयपुर, कोलकाता, और मुंबई रेलवे में नौकरियां दी गईं.

Story By: Divya Kumari