Skip to content

Koderma: वन स्टॉप सेंटर में निकली भर्ती, आवेदन की अंतिम तिथि 20 जुलाई, 30 हज़ार मिलेगा वेतन

amarsid
Advertisement

Koderma: महिला, बाल विकास एवं सामाजिक सुरक्षा विभाग द्वारा संचालित सखी वन-स्टॉप-सेंटर योजना के तहत कोडरमा जिले में विभिन्न पदों के लिए आवेदन मांगे गए हैं. आवेदन करने की अंतिम तिथि 20 जुलाई 2022 निर्धारित की गई है. आवेदन की प्रक्रिया ऑनलाइन है.

Advertisement
Advertisement

सखी वन स्टॉप सेंटर योजना का क्रियान्वयन किया जा रहा है. इस योजना के अंतर्गत हिंसा से पीड़ित महिलाओं को सखी वन स्टॉप सेंटर में एक छत के नीचे पुलिस सहायता, कानूनी सहायता एवं परामर्श चिकित्सा सहायता, मनोसामाजिक परामर्श, अस्थायी आश्रय इत्यादि उपलब्ध कराया जाता है. इस योजना को संचालित करने के लिए और पीड़ितों को सेवाएं उपलब्ध कराने के लिए विभिन्न पदों पर योग्य अभ्यर्थियों के लिए आवेदन मांगे गए हैं.

यह भी पढ़े- JSSC Recruitment 2022: JSSC ने नगरपालिका के 900 से अधिक पदों पर निकाली बंपर भर्ती, 1 लाख तक मिलेगा वेतन

कोडरमा जिले में सखी वन स्टॉप सेंटर योजना के तहत एक सखी वन स्टॉप सेंटर स्थापित किया गया है. जिसमें केंद्र प्रशासक, केस वर्कर और परामर्श दात्ता के लिए आवेदन मांगे गए हैं. यह आवेदन केवल महिलाओं के लिए है क्योंकि यह योजना महिलाओं से जुड़ी हुई है. जिला प्रशासन द्वारा निकाली गई इस नियुक्ति प्रक्रिया में कुल 5 पदों के लिए आवेदन मांगे गए हैं. इच्छुक अभ्यर्थी 20 जुलाई 2022 तक राज्य सरकार के अधिकारिक वेबसाइट www.recruitment.jharkhand.gov.in पर आवेदन कर सकते हैं.

इस आवेदन के लिए निम्न शैक्षणिक योग्यता होना अनिवार्य:

  • केंद्र प्रशासक: इस पद के लिए किसी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से सामाजिक कार्य में स्नातकोत्तर/किसी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से विधि में स्नातक होना अनिवार्य है. इसके अलावा किसी सरकारी अथवा गैर-सरकारी संस्था/परियोजना में महिलाओं के विरुद्ध हिंसा जैसे मुद्दों पर कार्य करने का न्यूनतम 5 वर्ष का अनुभव साथ ही किसी सरकारी अथवा गैर-सरकारी संस्था/परियोजना में परामर्श दात्ता के रूप में कार्य करने का न्यूनतम 1 वर्षों का अनुभव होना अनिवार्य है.
  • केस वर्कर: इस पद के लिए किसी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से सामाजिक कार्य में स्नातकोत्तर/किसी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से विधि में स्नातक होना जरूरी है. इसके अलावा किसी सरकारी अथवा गैर-सरकारी संस्था/परियोजना में महिलाओं के विरुद्ध हिंसा जैसे मुद्दों पर कार्य करने का न्यूनतम 3 वर्ष का अनुभव होना जरूरी है.
  • परामर्श दात्ता: इस पद के लिए किसी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से सामाजिक कार्य/नैदानिक मनोविज्ञान (Clinical Psychology) में स्नातकोत्तर होना जरूरी है. इसके अलावा राज्य स्तरीय इकाई/जिला स्तरीय क्लीनिक या किसी प्रतिष्ठित मानसिक स्वास्थ्य संस्था में परामर्श दात्ता/मनोचिकित्सक के रूप में कार्य करने का न्यूनतम 3 वर्ष का अनुभव होना अनिवार्य है.

विभिन्न पदों के लिए इतना मिलेगा वेतन:

जिला प्रशासन द्वारा निकाले गए विभिन्न पदों पर अलग-अलग वेतन निर्धारित किए गए हैं. केंद्र प्रशासक के लिए प्रति माह 30,000 रुपए वेतन दिया जाएगा. वहीं केस  वर्कर को 20,000 प्रति माह और परामर्श दात्ता को 25,000 रुपए प्रति माह दिए जाएंगे. 

अधिक जानकारी और नोटीफिकेशन देखने के लिए यह क्लिक करें

Leave a Reply