Skip to content
railway-hd

रेलवे ने नियमित यात्री ट्रेनों की टिकट किये रद्द, पढ़े आखिर रेलवे ने क्यों किया ऐसा

tnkstaff
railway-hd

भारतीय रेलवे ने नियमित यात्री ट्रेनों में 30 जून को या उससे पहले यात्रा के लिए बुक किए गए सभी टिकट रद्द कर दिए हैं। रेलवे ने कहा है कि श्रमिक और विशेष ट्रेनों का संचालन जारी रहेगा। 30 जून 2020 तक बुक किए गए सभी टिकटों का रिफंड यात्रियों को कर दिया गया है। 

Advertisement

Also Read: लॉकडाउन में ट्रेन से करने वाले है सफर, तो ध्यान में रखे ये बात……..

रेलवे ने कहा है कि कोरोना वायरस संकट के मद्देनजर 13 मई से भारतीय रेलवे कैटरिंग एंड टूरिज्म कॉर्पोरेशन (आईआरसीटीसी) ऑनलाइन टिकट बुक करने वाले सभी यात्रियों के गंतव्य पते का रिकॉर्ड अपने पास रख रहा है। इससे रेलवे को बाद में आवश्यकता पड़ने पर संपर्क करने में मदद मिलेगी।

Also Read: 12 मई से इन जगहों के लिए रेलवे चलाएगी ट्रेनें, ऐसे करें टिकट बुकिंग….

हालांकि, कहा जा रहा था कि रेलवे 22 मई से मेल, एक्सप्रेस और शताब्दी ट्रेनों का संचालन शुरू कर सकता है। लेकिन अब जून तक सभी ट्रेनों के लिए बुक टिकट रद्द कर दिया गया है। बता दें कि लॉकडाउन के चलते विभिन्न राज्यों में फंसे प्रवासी मजदूरों के लिए रेलवे श्रमिक स्पेशल ट्रेन चला रहा है। इसके अलावा रेलवे ने राजधानी स्पेशल ट्रेन भी शुरू की हैं।

Also Read: भारत सरकार ने किसानों के खातों में डालें 18,253 करोड़ रूपये, ऐसे देखें अपने खाते का बैलेंस

साथ ही कहा जा रहा था कि श्रमिक और राजधानी स्पेशल की तरह ही शताब्दी स्पेशल और इंटरसिटी स्पेशल ट्रेनें चलाई जा सकती हैं। हालांकि इस पर रेलवे की तरफ से किसी तरह का बयान नहीं आया है। 

बता दें कि रेलवे ने एक मई से 642 श्रमिक स्पेशल ट्रेनों का संचालन किया है, जिससे देश के विभिन्न हिस्सों में लॉकडाउन के चलते फंसे आठ लाख प्रवासी मजदूरों को उनके घर पहुंचाया गया। यह जानकारी अधिकारियों ने बुधवार को दी। इनमें से सबसे अधिक ट्रेनें (301) उत्तर प्रदेश और उसके बाद बिहार (169) पहुंचीं।

अन्य राज्यों में मध्य प्रदेश में 53, झारखंड में 40 ट्रेनें, ओडिशा में 38, राजस्थान में आठ, पश्चिम बंगाल में सात, छत्तीसगढ़ में छह और उत्तराखंड में चार ट्रेनें पहुंचीं। आंध्र प्रदेश, जम्मू कश्मीर और महाराष्ट्र में तीन-तीन ट्रेनें पहुंचीं, जबकि एक-एक ट्रेन हिमाचल प्रदेश, कर्नाटक, मणिपुर, मिजोरम, तमिलनाडु, तेलंगाना और त्रिपुरा पहुंचीं।

Advertisement

Leave a Reply

Popular Searches