Skip to content
sonia-gandhi

प्रवासी मजदूरों के लौटने की रेल यात्रा का खर्च उठाएगी कांग्रेस: सोनिया गाँधी

tnkstaff
sonia-gandhi

नई दिल्ली: सोनिया गांधी ने सोमवार को घोषणा की के लॉकडाउन के बीच प्रवासियों के लिए ट्रेन का किराया कांग्रेस चुकाएगी, “हम नहीं चाहते कि हमारे गाँव इटली बने”। सोनिया गाँधी ने कहा जब ट्रम्प यात्रा के दौरान गुजरात में सिर्फ एक कार्यक्रम में “100 करोड़” खर्च किए गए और रेलवे द्वारा पीएम-केयर फंड में 151 करोड़ रुपये का योगदान दिया गया था, विदेश में फंसे भारतीयों को मुफ्त में वापस लाया गया तो क्यों कामगारों से किराया वसूला जा रहा है। ऐसे में उन्होंने फैसला लिया है कि प्रदेश कांग्रेस कमेटी की हर इकाई हर जरूरतमंद श्रमिक और कामगार के घर लौटने की रेल यात्रा का टिकट खर्च वहन करेगी और जरूरी कदम उठाएगी।

Advertisement

सोनिया गाँधी ने बयान जारी करते हुए कहा, ‘श्रमिक व कामगार देश की रीढ़ की हड्डी हैं, उनकी मेहनत और लगन राष्ट्र निर्माण की नींव है। सिर्फ चार घंटे के नोटिस पर लॉकडाऊन करने के कारण लाखों श्रमिक व कामगार घर वापस लौटने से वंचित हो गए। 1947 के बंटवारे के बाद देश ने पहली बार यह दिल दहलाने वाला मंजर देखा कि हजारों श्रमिक व कामगार सैकड़ों किलोमीटर पैदल चल घर वापसी के लिए मजबूर हो गए।’
उन्होंने कहा, ‘न राशन, न पैसा, न दवाई, न साधन, पर केवल अपने परिवार के पास वापस गांव पहुंचने का सपना। उनकी व्यथा सोचकर ही हर मन कांपता और फिर उनके दृढ़ निश्चय और संकल्प को हर भारतीय ने सराहा भी। पर देश और सरकार का कर्तव्य क्या है? आज भी लाखों श्रमिक व कामगार पूरे देश के अलग अलग कोनों से घर वापस जाना चाहते हैं, पर न साधन है, और न पैसा।’

उन्होंने कहा, ‘भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस ने मेहनतकश श्रमिकों व कामगारों की इस निशुल्क रेलयात्रा की मांग को बार बार उठाया है। दुर्भाग्य से न सरकार ने एक सुनी और न ही रेल मंत्रालय ने। इसलिए, भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस ने यह निर्णय लिया है कि प्रदेश कांग्रेस कमेटी की हर इकाई हर जरूरतमंद श्रमिक व कामगार के घर लौटने की रेल यात्रा का टिकट खर्च वहन करेगी व इस बारे जरूरी कदम उठाएगी। मेहनतकशों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर खड़े होने के मानव सेवा के इस संकल्प में कांग्रेस का यह योगदान होगा।’

Advertisement

Leave a Reply

Popular Searches