mahbooba-mufti

5 अगस्त के अपमान को नहीं भूलेंगे: रिहा होते ही महबूबा मुफ़्ती का कश्मीर के लिए पहला संदेश

tnkstaff
Share on facebook
Share on twitter
Share on email
Share on pocket

जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्फ ने कहा कि आर्टिकल 370 5 अगस्त के “अपमान” को हम  नहीं भूलेंगे, अनुच्छेद 370 को “अवैध रूप से” और “अलोकतांत्रिक” तरीके हटाया गया है। एक साल से अधिक समय के लिए  हिरासत में रखा गया.

Advertisement

महबूबा मुफ्ती ने ट्विटर पर शेयर किए गए ऑडियो संदेश में कहा, ‘मैं आज एक साल से भी ज्यादा समय के बाद रिहा हुई हूं। 5 अगस्त 2019 के उस काले दिन का काला फैसला मेरे दिल और रूह पर हर पल वार करता रहा। मुझे यकीन है कि ऐसी ही स्थिति जम्मू-कश्मीर के लोगों की रही होगी। कोई भी उस दिन की बेइज्जती को भूल नहीं सकता।’

जम्मू-कश्मीर से 5 अगस्त 2019 को आर्टिकल 370 के प्रावधानों को हटाने के साथ ही महबूबा मुफ्ती को पीएसए के तहत हिरासत में ले लिया गया था। तबसे अब तक उनकी हिरासत की अवधि लगातार बढ़ाई जा रही थी। आखिरकार 14 महीने और आठ दिन बाद जम्मू-कश्मीर प्रशासन ने उन्हें रिहा करने का फैसला किया है। जम्मू-कश्मीर के प्रमुख सचिव सूचना रोहित कंसल ने इसकी जानकारी दी।

Advertisement

Leave a Reply

Share on facebook
Share on twitter
Share on pocket
Share on whatsapp
Share on telegram

Popular Searches