Skip to content
c59eb2e907206998269188af0305585d (1)

झारखंड में 250 किलो सोने की खान को मिली नीलामी की अनुमति, राज्य सरकार को 120 करोड़ का होगा फायदा

News Desk

झारखंड अपनी खनिज संपदा की वजह से विश्व भर में प्रसिद्ध है. 250 किलो सोने के भंडार वाली खान नीलामी के लिए तैयार है. कोरोना महामारी के कारण राज्य की आर्थिक हालात ठीक है नहीं है. मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने साफ़ कहा है की हमारे सामने राजस्व की सबसे बड़ी चुनौती है. इस लिहाजे से ये 120 करोड़ सरकार की काफी मददगार साबित होगी।

Advertisement

Also Read: रघुवर राज में बड़े ठेके लेने वाले रामकृपाल कंस्ट्रक्शन का नक्सलियों से कनेक्शन, नक्सलियों को फंडिंग करने का खुलासा

पूर्वी सिंहभूम जिले के भीतरडारी स्थित खान से राज्य सरकार के खजाने में 120 करोड़ रुपए आने की संभावना है। भारतीय भूगर्भ सर्वेक्षण के उप महानिदेशक जनार्दन प्रसाद और निदेशक पंकज कुमार सिंह ने राज्य के खान सचिव अबूबकर सिद्दीकी को इस खान में भंडार का पता लगाने का पूरा हो जाने की रिपोर्ट सौंपी। झारखंड सरकार का खान विभाग अब नीलामी की तैयारी करेगा।

Also Read: मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने दिए आदेश, धनबाद नगर निगम में 200 करोड़ के घोटाले की ACB करेगी जाँच

भीतरडारी में सोने की भंडार का पता लगाने का काम भूतत्ववेत्ता पंकज कुमार सिंह के निर्देशन में चल रहा था। इसमें अलग-अलग गुणवत्ता वाले सोने की मात्रा का पता चला है। अलग वेराइटी के स्वर्ण अयस्कों से कुल मिलाकर 250 किलो सोना निकलने की संभावना है।

भारतीय भूगर्भ सर्वेक्षण की रिपोर्ट में कहा गया है कि झारखंड देश के गोल्ड स्पॉट वाले राज्य की संभावना के रूप में विकसित हो रहा है। इससे पहले भी लावा, कुंदरकोचा, पहाड़डीहा और परासी में सोने की भंडारों का पता लगाया जा चुका है।

Also Read: स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता ने रिम्‍स में नेफ्रोलॉजी विभाग का किया उद्घाटन, रांची सांसद भी रहे मौजूद

प्रदेश में सात और स्थानों पर सोने की खान के संकेत मिल चुके हैं। आने वाले दिनों में यहां खोज कार्य को आगे बढ़ाकर संभावनाओं का पता लगाया जा सकता है। रांची से लेकर तमाड़ के बीच सोने की खानों की खोज का काम अरसे से चल रहा है। कई स्थानों पर स्वर्णरेखा नदी के बालू से भी सोने की कणों के छानने का काम चलता है।

Advertisement

Leave a Reply

Popular Searches