Skip to content

मानसून सत्र शुरू होते ही भाजपा विधायक ने हाथों में तख्ता लेकर राज्य सरकार का जताया विरोध

झारखंड विधानसभा का मानसून सत्र आज 18 सितंबर से शुरू हो गया है। कोरोना महामारी को देखते हुए पुख्ता इंतजाम किये गये हैं। हैंड सेनिटाइजर व मास्क और गलबल की भी सभी सदस्यो को मुहैया कराया गया है। वहीं, स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि मानसून सत्र के दौरान डॉक्टरो की एक टीम यहाँ हमेशा मौजूद रहेगी।

मानसून सत्र के शुरू होते ही अनुपूरक बजट 2020-21 भी पेश किया गया। 2584 करोड़ का अनुपूरक बजट पेश किया गया। सत्र शुरू होने से पहले हजारीबाग सदर से भाजपा के विधायक मनीष जैसवाल ने हाथों में तख्तिया लेकर विधानसभा के बाहर राज्य सरकार का विरोध किया। विधायक मनीष जैसवाल ने जिन तख्तियों को लेकर विरोध कर रहे थे उनपर “जनता-जनार्दन अंधेरे से है त्रस्त, महागठबंधन की सरकार अपने में है मस्त!” , “महागठबंधन की सरकार हुई फेल ट्रास्फोर्मर के लिए नहीं मिल रहा है तेल” जैसे स्लोगन लिखें थे। दरअसल, शुक्रवार को शुरु हुए मानसून सत्र में विधायक मनीष जैसवाल ने राज्य में बिजली की लचर व्यवस्था, बिगडती विधि व्यवस्था को लेकर विरोध कर रहे थे।

सदन की कार्रवाई शुरू होने के बाद शोक प्रस्ताव लाया गया जिसमें देश सहित राज्य के भीतर पिछले कुछ महीने में जिन लोगो की मृत्यु हुई उन लोगों को श्रद्धांजलि दी गई जिसके बाद सदन की कार्यवाही अगले आदेश तक के लिए स्थगित कर दी गई