Skip to content
jharkhand assembly

Jharkhand Monsoon Season: मानसून सत्र को लेकर विधानसभा अध्यक्ष ने की बैठक, अधिकारियों को बिल हिंदी और अंग्रेजी में लाने का निर्देश

Arti Agarwal

Jharkhand Monsoon Season: झारखंड विधानसभा में आयोजित होने वाली आगामी मानसून सत्र को लेकर विधानसभा में हाई लेवल बैठक हुई. स्पीकर रबीन्द्रनाथ महतो की अध्यक्षता में हुई इस बैठक में राज्य के मुख्य सचिव सुखदेव सिंह सहित विभिन्न विभागों के अधिकारी शामिल हुए.

Advertisement
Jharkhand Monsoon Season: मानसून सत्र को लेकर विधानसभा अध्यक्ष ने की बैठक, अधिकारियों को बिल हिंदी और अंग्रेजी में लाने का निर्देश 1

बैठक में स्पीकर रबीन्द्रनाथ महतो ने अधिकारियों को सदन में आने वाले सरकारी बिल में हिन्दी और अंग्रेजी की एकरुपता बनी रहे इसके प्रति सचेत किया. पिछले सत्र में सदन से पास होने के बाद राजभवन के द्वारा बिल को लौटाये जाने पर नाराजगी जताते हुए स्पीकर ने अधिकारियों से इस पर गंभीरता दिखाने की बात कही है.

विधानसभा में सवालों के सही और सटीक उत्तर उपलब्ध कराने का निर्देश:

29 जुलाई से शुरू हो रहे मानसून सत्र के दौरान सदन में आनेवाले विभिन्न विभागों से संबंधित सवाल और उनके दिये जा रहे जवाब पर चर्चा हुई. बैठक में स्पीकर ने अधिकारियों को विभागीय अधिकारियों को सदन में उठनेवाले प्रश्नों का सही और सटीक जवाब देने को कहा. बैठक में सदन के संचालन के दौरान विधि व्यवस्था और प्रशासनिक तैयारी पर भी चर्चा हुई. स्पीकर कक्ष में हुई बैठक में मुख्य सचिव सुखदेव सिंह, कार्मिक सचिव वंदना डाडेल, उर्जा सचिव अविनाश कुमार सहित कई विभाग के अधिकारी मौजूद थे.

यह भी पढ़े- Jharkhand Old Pension Scheme: हेमंत सोरेन को घेरने के चक्कर में खुद फंसे बाबूलाल, पुरानी पेंशन योजना पर किया था सवाल

बता दें कि, इस मानसून सत्र के दौरान 6 कार्य दिवस होंगे जिसमें 1 अगस्त से लेकर 5 अगस्त तक प्रश्नकाल होगा. वहीं, इस दौरान अनुपूरक बजट भी सदन में लाए जाएंगे. गौरतलब है कि 29 जुलाई से शुरू हो रहे मानसून सत्र के दौरान 6 कार्य दिवस होंगे. सदन की कार्यवाही दिन के 11 बजे से शुरू होगी. 30 एवं 31 जुलाई को शनिवार-रविवार होने के कारण नहीं होगी वहीं 1 अगस्त को वित्तीय वर्ष 2022- 23 के प्रथम अनुपूरक बजट सदन के पटल पर रखा जाएगा. 2 अगस्त को इस पर वाद विवाद चर्चा के बाद इसे पारित कराया जाएगा. 3 अगस्त और 5 अगस्त को राजकीय विधेयक एवं अन्य राजकीय कार्य यदि हो तो वह होंगे. 5 अगस्त को गैर सरकारी सदस्यों के कार्य, गैर सरकारी संकल्प पटल पर रखा जाएगा.

Advertisement

Leave a Reply