Skip to content
jmm leaders

बाबूलाल पहले अपनी गिरेबां में झांक कर देखे, जब मुख्यमंत्री थे तब दुमका में क्या करते थे?:- सांसद विजय हांसदा

Arti Agarwal

झारखंड की सत्ताधारी दल झारखंड मुक्ति मोर्चा और मुख्य विपक्षी दल भारतीय जनता पार्टी एक बार फिर आमने सामने है इस बार मामले की शुरुआत भाजपा की तरफ से की गई है. दरअसल, झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन पर मुंबई की एक मॉडल ने साल 2013 में दुष्कर्म होने का आरोप लगाया है जिसके बाद भाजपा के विधायक दल नेता बाबूलाल मरांडी ने ट्वीट करते हुए कहा है कि मुख्यमंत्री को नैतिकता के आधार पर इस्तीफा दे देना चाहिए बाबूलाल मरांडी के द्वारा किए गए ट्वीट के बाद झारखंड की राजनीति गरमा गई है.

Advertisement

मॉडल के द्वारा मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन पर लगाए गए आरोप को लेकर झारखंड भाजपा उन्हें घेरने में जुट गई है बाबूलाल मरांडी शनिवार और रविवार को प्रेस कांफ्रेंस करके मुख्यमंत्री से इस्तीफा देने और सीबीआई जांच की मांग कर रहे हैं बाबूलाल मरांडी के द्वारा किए जा रहे इस्तीफे की मांग के बाद झारखंड मुक्ति मोर्चा के भी नेता खुलकर सामने आ गए हैं पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल मरांडी शनिवार को दुमका में थे वह जहां उन्होंने मुख्यमंत्री पर गंभीर आरोप लगाते हुए इस्तीफे की मांग कर डाली जिसके बाद भी पाकुड़ चले गए शनिवार की देर रात मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन दुमका पहुंचे उनके साथ बड़ी संख्या में झारखंड मुक्ति मोर्चा के नेता भी पहुंचे थे रविवार को एक बार फिर बाबूलाल मरांडी ने संवाददाता सम्मेलन कर मुख्यमंत्री से इस्तीफे की मांग की वहीं झामुमो के नेताओं के द्वारा प्रेस कॉन्फ्रेंस करके बाबूलाल मरांडी को गिरेबान में झांकने की साला दी गई

झारखंड मुक्ति मोर्चा के सांसद विजय हांसदा ने बाबूलाल मरांडी के द्वारा कहीं-कहीं बातों पर पलटवार करते हुए कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल मरांडी को पहले अपने गिरेबान में झांकने की जरूरत है आगे उन्होंने कहा कि बाबूलाल जब मुख्यमंत्री थे तो दुमका में क्या करते थे या जनता भली-भांति जानती है झामुमो नेताओं ने भाजपा पर गंदी राजनीति करने का आरोप लगाया वही झारखंड मुक्ति मोर्चा के केंद्रीय महासचिव और गिरिडीह सदर से विधायक सुदिव्य सोनू ने कहा कि सरकार की छवि को बिगाड़ने के लिए या एक षड्यंत्र किया जा रहा है उप चुनाव के समय भाजपा ने 3 माह में सरकार गिरने का दावा किया था लेकिन बाबूलाल मरांडी सरकार के खिलाफ कुछ नहीं कर पाए थे ऐसे में हताश और निराश होकर के बाबूलाल मरांडी सरकार के खिलाफ षड्यंत्र कर रहे हैं

Advertisement

Leave a Reply

Popular Searches