Skip to content
20201112_065840-01

दुमका बेरमो जीतने के 24 घंटे के अंदर दोनो प्रत्याशियों ने लिया शपथ, सीएम ने दिया आशीर्वाद

Arti Agarwal

झारखंड में 3 नवंबर को हुए दो विधानसभा सीटों पर मतदान का परिणाम मंगलवार 10 नवंबर को सामने आये. दुमका और बेरमो विधानसभा सीट को सत्ताधारी महागठबंधन ने जीतकर अपने किलेबंदी को मजबूत रखने में कामयाब हुई लेकिन भाजपा के हाथ सिर्फ निराश ही लगी. सत्ता जाने के बाद महागठबंधन को अपनी ताकत का अंदाजा कराने के इरादे से दुमका सीट पर जी जान से लगी भाजपा को सिर्फ निराश ही हाथ लगी. दुमका सीट से सीएम हेमंत सोरेन के छोटे भाई बसंत सोरेन भाजपा प्रत्याशी सह पूर्व मंत्री लोइस मरांडी को हराकर पहली बार विधानसभा पहुंचे. मतगणना के 11 राउंड तक पिछडने के बाद बसंत सोरेन ने 12 राउंड से बढ़त बनाते हुए जीत हासिल करने में कामयाब रहे. बसंत सोरेन ने लोइस मरांडी को 6500 से अधिक मतो से पराजित किया है.

Advertisement

वहीं, बेरमो विधानसभा सीट पर कांग्रेस और भाजपा के बीच सीधा मुकाबला था. इस सीट पर कांग्रेस की तरफ से दिवंगत राजेन्द्र सिंह के बड़े पुत्र कुमार जयमंगल उर्फ अनूप सिंह को प्रत्याशी बना गया था जबकि, भाजपा की तरफ से पूर्व विधायक योगेश्वर महतो बाटुल पर दाव खेला गया था. कांग्रेस के प्रत्याशी कुमार जयमंगल ने भाजपा के योगेश्वर महतो बाटुल को 15000 के बड़े अंतर से हराकर विधानसभा पहुंचने में कामयाब रहे. अनूप सिंह पहली बार चुनाव लड़े और विधायक चुने गये हैं.

विधानसभा चुनाव जीतने के 24 घंटो के अंदर ही दोनो नवनिर्वाचित विधायको ने विधानसभा में शपथ ग्रहण भी किया है. मालूम हो कि 10 नवंबर को दोनो सीटो पर परिणाम आये थे. 11 नवंबर को हेमंत सरकार की तरफ से सरना धर्म कोर्ड के प्रस्ताव को पारित करके केन्द्र सरकार को भेजने के लिए विशेष सत्र बुलाया गया था. इसी विशेष सत्र में दोनो नवनिर्वाचित विधायको को शपथ ग्रहण भी करवाया गया.

Advertisement

Leave a Reply

Popular Searches