Skip to content
jharkhand-police

भाजपा ने पुलिस की कार्रवाई पर उठाये सवाल, पुलिस के समर्थन में लोगो ने कहा #ISupportJharkhandPolice

tnkstaff

कोरोना संक्रमण झारखंड में लगातार बढ़ता जा रहा है. इस बिच राज्य की सियासत गरमा गयी है. झारखण्ड की मुख्य विपक्षी दाल भाजपा ने झारखण्ड पुलिस की कार्यशैली पर सवाल खड़े कर दिए है जिसके बाद राज्य में सियासत तेज हो गयी है. प्रदेश की विधिव्यवस्था बनाने की जिम्मेदारी राज्य के पुलिस की होती है लेकिन जब पुलिस ही कटघरे में कड़ी हो तो क्या कहने।

Advertisement

दरअसल मामला तब शुरू हुआ जब जमशेदपुर के एक फल विक्रेता के दुकान के सामने एक पोस्टर लगा हुआ था जिसमे लिखा था “विश्वहिन्दू परिषद की अनुमोदित हिन्दू फल दुकान” इसे देख किसी ने ट्विटर मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन और झारखण्ड पुलिस को टैग करते हुए लिखा की हिन्दू-मुस्लिम करके व्यापार करने का अधिकार किसने दिया है. जिसके बाद विवादित पोस्टर को देख झारखण्ड पुलिस ने जमशेदपुर के एसएसपी को आदेश दिया की मामले पर कार्रवाई कर.

मामले पर कार्रवाई करते हुए जमशेदपुर पुलिस ने दुकान के सामने से पोस्टर को हटा दिया गया और दुकानदार के खिलाफ धरा 107 के तहत मुकदमा भी दर्ज किया गया. जिसके बाद भाजपा के प्रदेश स्तर के नेताओ ने इस मुद्दे को आड़े-हाथो लेते हुए मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन और झारखण्ड पुलिस को घेरना शुरू कर दिया। मामला इतना ज्यादा बड़ा हो गया की राष्ट्रीय स्तर के नेता भी मैदान में उतर गए और ट्विटर पर #Hinduphobia_in_Jharkhand ट्रैंड करवा दिया।

लॉक डाउन के बिच झारखण्ड पुलिस के द्वारा ये साफ़ निर्देश दिया गया है की सोशल मीडिया सहित अन्य स्थानों पर धार्मिक आधार पर भेदभाव करने वालो के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जायेगी।

भाजपा के द्वारा चलाये गए ट्रैंड के जवाब में रविवार को एक ट्रैंड चला जिसका नाम #ISupportJharkhandPolice दिया गया. झारखण्ड पुलिस की कार्रवाई पर भाजपा द्वारा उठाये गए सवालो पर लोगो ने पुलिस बल का बचाओ किया। और भाजपा को नसीहत दी गयी की कोरोना जैसी इस महामारी के समय भी भाजपा राजनीती न करे.

लॉक डाउन के दौरान झारखण्ड पुलिस के द्वारा किये जा रहे राहत के कार्यों को बताते हुए भाजपा पर हमला बोला गया. ट्विटर यूजर अर्चना कुमारी ने लिखा है की ” मुमकिन नही हो रहा है, अब ये लोग इसी प्रकार की बेहुदी हरकतों से एक बार फिर झारखंड के लोगों को बांटने, हिंदू-मुस्लिम में फंसाकर झारखंड को बदनाम करना चाहतें हैं, जो किसी भी सुरत में होना नही चाहिए, झारखंड पुलिस कारवाई की हम सरहना करते हैं”

https://twitter.com/archnakumari108/status/1254436182391390209?s=20

एक अन्य यूजर रणजीत उरांव लिखते है “हमारे झारखंड में हेमंत सोरेन की सरकार ने झारखंड वासियों को एक नयी उम्मीद दे दी है झारखंड पुलिस इस वक़्त बिना धर्म और जाति देखे ‘साम्प्रदायिक सोच वालों पर पूरी तरह लगाम कसी हुई है, और ये बात कुछ नफरत के सौदागरों को हज़म नही हो रही”

https://twitter.com/RanjeetOraon100/status/1254432200864542721?s=20

बता दें की झारखण्ड कोरोना महामारी से लड़ रहा है और अब तक राज्य में कोरोना संक्रमितों की संख्या 82 हो चुकी है तो वही लोग कोरोना से 13 लोग स्वस्थ हो कर घर जा चुके है. राज्य सरकार की तरफ से कहा जा रहा है की केंद्र से जो सहयोग हमें मिलना चहिए था वो अब तक नहीं मिला जिसके कोरोना का टेस्ट सही से नहीं हो रहा है.

Advertisement

Leave a Reply

Popular Searches