Skip to content
TheNewsKhazana.com

भाजपा ने राज्यपाल को लिखा पत्र, हेमंत सरकार पर लगाया तुष्टिकरण का आरोप

tnkstaff

कोरोना संक्रमण और लॉक डाउन के बीच प्रदेश का सियासी पारा एक बार फिर गर्म हो गया है. प्रदेश सरकार जहाँ कोरोना से लड़ने में लगी है तो वही विपक्ष की तरफ से बयान बाजी शुरू हो गयी है. भाजपा के द्वारा पूछे जा रहे सवालो के अलोक में मुख्यमंत्री ने कहा था की वक़्त राजनीती का नहीं है. बल्कि कोरोना से लड़ना ज्यादा जरुरी है

Advertisement

Also Read: CM सोरेन ने अमित शाह से कहा, कोटा में फंसे बच्चो और अन्य राज्यों में फंसे मजदूरों को लाने में मदद करे सरकार

झारखण्ड भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष दीपक प्रकाश और भाजपा विधायक दल के नेता बाबूलाल मरांडी ने राज्यपाल द्रोपदी मुर्मू को एक पत्र लिख राज्य सरकार पर तुष्टिकरण का आरोप लगाया है. भाजपा ने अपने पत्र में कहा है की लॉक डाउन का पालन राज्य की जनता कर रही है. तो वही राज्य की हेमंत सरकार के असंवैधानिक और तुष्टिकरण से भरे निर्णयों ने न सिर्फ कोरोना के खिलाफ लड़ाई को कमजोर किया है बल्कि राज्य की जनता को भी खतरे में डाला है.

Also Read: भाजपा ने पुलिस की कार्रवाई पर उठाये सवाल, पुलिस के समर्थन में लोगो ने कहा #ISupportJharkhandPolice

25 अप्रैल को जमशेदपुर पुलिस की कार्रवाई पर सवाल खड़ा करते हुए प्रदेश अध्यक्ष दीपक प्रकाश और बाबूलाल मरांडी ने राज्यपाल से कहा है की जमशेदपुर में एक फल विक्रेता पर उच्चस्तरीय निर्देश पर पुलिस इसलिए कार्रवाई करती है क्यूंकि दुकान में हिन्दू फल दुकान का बैनर लगा हुआ था. पुलिस के द्वारा दर्ज मामले का विरोध करने पर केस वापस लिया गया है.

Also Read: लॉकडाउन को सख्ती से पालन करवाने के लिए CRPF संभालेगा मोर्चा, उल्लंघन करने वालो पर होगी कार्रवाई

दीपक प्रकाश और बाबूलाल मरांडी ने आरोप लगाया की घटना के बाद फल विक्रेता को विदेश से धमकी भरे फ़ोन और मैसेज आ रहे है जिससे उसे जान से मारने की धमकी दी जा रही है ये सब प्रदेश सरकार की तुष्टिकरण की राजनीती के कारण हो रहा है.

प्रदेश भाजपा ने हेमंत सरकार को कटघरे में खड़ा करते हुए कहा है की राज्य सरकार के खिलाफ आवाज़ उठाने वालो के खिलफ पुलिस द्वारा कार्रवाई की जा रही है. साथ ही जमशेदपुर पुलिस को आदेश देने वाले अधिकारियों पर भी कार्रवाई की मांग की गयी है.

Advertisement

Leave a Reply

Popular Searches