Skip to content
jharkhand-permision-ladakh-BRO

झारखंड से मजदूर ले जायेगा BRO, राज्य सरकार ने दे दी है NOC

News Desk

बॉर्डर रोड ऑर्गेनाइजेशन यानी बीआरओ केंद्र सरकार का वो संगठन है जो सीमाई क्षेत्रों में सड़क से लेकर बाकी निर्माण कार्य कराता है. कोरोना वायरस के चलते मार्च से देशभर में लॉकडाउन लागू किया गया था, जिसके चलते तमाम मजदूर अपने-अपने गृहराज्य लौट आये थे. ऐसे में निर्माण कार्य भी रुके हुए थे. अब फिर से इन्हें बहाल करने की कोशिश की जा रही है. इसके लिये मजदूरों को वापस बुलाया जा रहा है.

Advertisement

Also Read: भाजपा प्रदेश अध्यक्ष ने कहा, ढुल्लू महतो को राजनीतिक दुर्भावना से प्रताड़ित कर रही राज्य सरकार

BRO के 60 अधिकारियों का डेलीगेशन 9 जून को झारखंड पहुंचने की संभावना है. ये डेलीगेशन सीधे तौर पर मजदूरों की नियुक्ति करेगा. मजदूरों का वेतन उस जगह के हिसाब से तय किया जायेगा जहां उन्हें काम करना होगा. जहां हालात ज्यादा चुनौतीपूर्ण हैं, वहां काम करने वाले मजदूरों को ज्यादा पैसा दिया जायेगा. बताया जा रहा है कि इन मजदूरों का वेतन 15-30 हजार के बीच रखा गया है.

Also Read: इरफ़ान अंसारी ने भाजपा पर कसा तंज कहा, संकट के समय भाजपा नेतागिरी से बाज नहीं आ रही है

बीआरओ का दल झारखंड पहुंच रहा है तो उम्मीद है जल्द ही मजदूरों को सीमाई क्षेत्र में ले जाकर निर्माण का काम चालू कराया जा सकेगा. गौरतलब है कि चीन से पूरा विवाद भी एक सड़क निर्माण को लेकर ही शुरू हुआ है. पूर्वी लद्दाख में बीआरओ द्वारा बनाई जा रही एक सड़क का चीनी सैनिकों ने इलाका अपनी सीमा में होने का दावा करते हुये विरोध किया. इसके बाद दोनों तरफ से सैनिकों में टकराव की स्थिति पैदा हो गई, जो अभी तक जारी है.

Advertisement

Leave a Reply

Popular Searches