एक साल से बच्चे नहीं गए है विद्यालय- तीर धनुष लेकर चिड़िया मारने में गुजरता है दिन

Shah Ahmad
Share on facebook
Share on twitter
Share on email
Share on pocket

झारखंड में शिक्षा व्यवस्था का हाल किस कदर ख़राब है ये जग जाहिर है. सरकारे आती है और जाती है लेकिन झारखण्ड बनने के 19 साल बाद भी राज्य की शिक्षा व्यवस्था नहीं सुधरी है. शिक्षा के लिए सरकरो के द्वारा करोड़ो खर्च किये जाते है लेकिन स्थिति जस की तस बनी रहती है. झारखंड में पहली बार पांच साल सरकार चलाने वाली भाजपा भी इस व्यवस्था को ठीक नहीं कर सकी. विद्यालयों को मर्ज करके शिक्षा में सुधार करने वाली बात भी सिर्फ कागजो तक सिमट कर रह गयी है.

adsDownload App Now: Click Here

झारखण्ड के पश्चिमी सिंहभूम जिले में एक मामला सामने आया है. पश्चिमी सिंघभूम जिले के प्रखंड टोंटो पंचायत केंजरा ग्राम तिलयाकुटी में एक विद्यालय ऐसा है जहाँ पिछले एक साल से बच्चे पढाई के लिए विद्यालय नहीं गए है. बच्चो के विद्यालय नहीं जाने का मुख्य कारण विद्यालय में शिक्षक का नहीं होना है. इस विद्यालय में एक मात्र पारा शिक्षक था जो पिछले साल यानी फ़रवरी 2019 से विद्यालय नहीं आ रहा है. जिस कारण बच्चे शिक्षा से वंचित हो गए है.

Also Read: #JAC ने 5वीं से 7वीं की परीक्षा में किया बदलाव- जानिये अब कैसे होगी परीक्षा

ग्रामीणों ने जानकारी दी की इस विद्यालय में कृष्णा सामड नाम का एक पारा शिक्षक है लेकिन वह फ़रवरी 2019 से विद्यालय नहीं आ रहे है जिसके कारण विद्यालय बंद पड़ी है और बच्चे शिक्षा से वंचित हो रहे है. ग्रामीणों का आरोप है की विद्यालय बंद पड़ी रहने के कारण बच्चे तीर-धनुष लेकर जंगलो में चिड़िया मरने के लिए भटकते रहते है.

ग्रामीणों ने आगे कहा की विद्यालय में कुल 65 बच्चे है जो शिक्षा प्राप्त करते है. लेकिन विद्यालय बंद होने के कारण पढाई से वंचित है. दूसरा विद्यालय गाँव से चार-पांच किलोमीटर दूर है और घना जंगल होने के कारण सुरक्षा की नजर से बच्चो को विद्यालय नहीं जाने दिया जाता है. कुछ लोग है जो आपने रिश्तेदारो के यहाँ जा कर पढाई करने के लिए मजबूर है.

Also Read: जिला प्रशासन का बड़ा फैसला- कार्यो में लापरवाही करनेवाली एएनएम होंगी कार्यमुक्त

जिला शिक्षा पदाधिकारी ने नहीं सुनी बात मायूस लौटे ग्रामीण:

ग्रामीणों ने कहा की ग्राम सभा के माध्यम से विद्यालय के अध्यक्ष की मौजूदगी में जिला शिक्षा पदाधिकारी के नाम के पत्र लिखा गया था, जिसमे विद्यालय से जुडी सभी समस्याएँ अंकित की गयी है. पत्र में लिखा गया की शिक्षक फ़रवरी 2019 से विद्यालय नहीं आ रहा है. साथ ही वर्ष 2018 में भी शिक्षक कृष्णा सामड सप्ताह में 2-3 दिन ही विद्यालय आते थे. विद्यालय बंद होने के कारण मध्यन भोजन भी बच्चो को नहीं मिल रहा है. विद्यालय का बैंक पासबुक भी शिक्षक कृष्णा सामड के पास है. विद्यालय प्रबंधन समिति के अध्यक्ष कई बार शिक्षक के घर गए लेकिन वो नहीं आये.

Also Read: झारखंड के जंगलों के लिए खनन योजना को एक नया रूप देने की तैयारी- लिए जा सकते है महत्वपूर्ण फैसले

ग्रामीणों के द्वारा जब इन बिन्दुओ को लेकर जिला शिक्षा पदाधिकारी के पास लिखित शिकायत की गयी तो अधिकारी ने उनकी अर्जी लेने से मना कर दिया और ये कहते हुए टाल दिया की ये विद्यालय शिक्षा परियोजन के अंदर आता है इसलिए हम कुछ नहीं कर सकते है. जिसके बाद ग्रामीण मायुश होकर अपने गाँव लौट गए. यह विद्यालय जिस विधानसभा में आता है वहाँ से अभी झामुमो के दीपक बिरुआ विधायक है. ग्रामीणों को उम्मीद है की सरकार बदली है तो उनकी समस्या का समाधान भी होगा।

Leave a Reply

In The News

सड़क पर खड़ी बस में लगी आग, जलकर एक युवक की मौत- मामले की जांच कर रही पुलिस

रांची जिला अंतर्गत नामकुम थाना क्षेत्र के लक्ष्मी नारायण मंदिर समीप सड़क किनारे खड़ी एक बस में रविवार रात को…

राज्यवासियों को दशहरा की बधाई और शुभकामनाएं : CM हेमंत सोरेन

दशहरा पर्व के मौके पर मुख्यमंत्री आवास स्थित मंदिर में मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन ने पूजा अर्चना कर राज्य की सुख,…

Jharkhand News: शादी का जोड़ा पहने मिली युवती की लाश, मामले की जांच में जुटी पुलिस

जमशेदपुर जिले के सीतारामडेरा थाना अंतर्गत मानगो पुल के नीचे नदी से रविवार की सुबह एक महिला का शव बरामद…

आदिवासी युवती से हुए गैंगरेप मामलें में साहेबगंज पुलिस को मिली सफलता, पुलिस ने आरोपियों को किया गिरफ्तार

झारखंड के संथाल परगना के साहिबगंज जिले में विगत कुछ दिनों पूर्व एक आदिवासी युवती के साथ सामूहिक दुष्कर्म की…

IBPS RRB Clerk , PO Recruitment 2020 : ऑफिस असिस्टेंट और ऑफिसर की 9600 भर्तियाँ

NewsDesk बैंकिंग कार्मिक चयन संस्थान (आईबीपीएस) ने इच्छुक उम्मीदवारों को क्षेत्रीय ग्रामीण बैंकों (आरआरबी) में ऑफिस असिस्टेंट (मल्टीपर्पज) और ग्रुप…

JAC मदरसा बोर्ड की परीक्षा 28 अक्टूबर से, देखें रूटीन

Ranchi: झारखण्ड अकादमिक कौसिल द्वारा मदरसा बोर्ड परीक्षा  की तारीखों की घोषणा कर दी गयी है, कौंसिल ने पिछले सप्ताह…

जोहार 😊

Popular Searches