Skip to content
Advertisement

स्वास्थ्य क्षेत्र में 15 साल के वनवास को सीएम हेमंत सोरेन ने किया खत्म, जिलों में करोड़ खर्च कर लोगों को मिलने जा रही सुविधाएं

News Desk

अपने तीन साल से ज्यादा के कार्यकाल में सीएम हेमंत सोरेन विकास से जुड़ी कई बातों को दोहराते दिखे हैं. इन्हीं बातों में “राज्यवासियों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधा उपलब्ध कराना सरकार की प्राथमिकता है”.

मुख्यमंत्री की सोच है कि उनके कार्यकाल में शहर से लेकर ग्रामीण इलाकों के लोगों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधा मिल सके. राज्य सरकार एक ही सपना, स्वस्थ- स्वच्छ प्रदेश हो अपना’ की थीम पर काम कर रही है. मुख्यमंत्री के निर्देश पर राज्य के हर जिलों में स्वास्थ्य़ सुविधाओं को मजबूती प्रदान की जा रही है.

रांची: सदर अस्पताल के 520 बेड वाले नए भवन में आम लोगों को मिलेगी चिकित्सा सुविधाएं

सबसे पहले बात रांची स्थित सदर अस्पताल की. मुख्यमंत्री के प्रयासों से 15 साल का वनवास खत्म हुआ है. सदर अस्पताल के 520 बेड का नए भवन में आम लोगों के लिए पूरी तरह से खोल दिया गया है. अस्पताल में उपचार कराने आने वाले मरीजों को बेहतर स्वास्थ्य सेवा मिलेगी. विभिन्न रोगों से संबंधित विभाग और डाक्टर की खोज के लिए इधर-उधर नहीं भटकना पड़ेगा. नए भवन में इमरजेंसी ओपीडी के साथ-साथ माड्यूलर ओटी और ओटी की भी व्यवस्था होगी. इमरजेंसी में हर समय ब्लड टेस्ट सेंटर और नए तीन ओपीडी की शुरुआत की जाएगी.

सीएम हेमंत सोरेन ने दो मेडिकल कॉलेजों के लिए 20-20 करोड़ रुपए किये आवंटित

जमशेदपुर स्थित एमजीएम और दुमका मेडिकल कॉलेज के निर्माण के लिए 20-20 करोड़ का आवंटन किया गया है. इन दोनों अस्पतालों में 500 बेड की सुविधा होगी. एमजीएम मेडिकल कॉलेज के भवन निर्माण के लिए 429.28 करोड़ और दुमका मेडिकल कॉलेज के लिए 484.58 करोड़ की प्रशासनिक स्वीकृति दी जा चुकी है.

लोहरदगा के मरीजों को अब नहीं आना होगा रिम्स के ट्रॉमा सेंटर में

लोहरदगा के जिला मुख्यालय में 100 बेड वाले क्रिटिकल केयर हेल्थ ब्लॉक अस्पताल के भवन का निर्माण होगा. इसके लिए 20 करोड़ रुपए आवंटित की गयी है. हॉस्पिटल बन जाने से गंभीर अवस्था के मरीजों को इलाज में सहूलियत होगी. वहीं सड़क दुर्घटना में गंभीर रूप से घायल मरीजों का इलाज किया जाएगा.

इसे भी पढ़े- भाजपा के डोभा निर्माण योजना में लिखी गयी भ्रष्टाचार की कथा, हेमंत सरकार की नीतियों से किसानों को सुखाड़ सहित सिंचाई में मिलेगी राहत

वर्तमान में लोहरदगा में किसी हादसे में घायल हुए लोगों को उच्चतर इलाज के लिए राजधानी स्थित रिम्स के ट्रॉमा सेंटर भेजा जाता है. यहां मरीज को आने में वक्त लगता है. ऐसे में गंभीर मरीज की जान खतरे में रहती है.

पाकुड़, रामगढ़, पलामू जैसे जिलों में हो रहा है काम

पाकुड़ जिले के अमरापाड़ा में 30 बेडेड सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र का निर्माण किया जाएगा. भवन निर्माण की योजना के लिए 8 करोड़ 47 लाख की स्वीकृति दी गयी है. रामगढ़ जिला अंतर्गत एएनएम स्कूल और छात्रावास के भवन निर्माण की योजना के लिए 2.करोड़ करोड़ रुपए आवंटित किया गया है. पलामू जिले के छतरपुर स्थित अनुमंडलीय अस्पताल के जीर्णोद्धार करने के लिए 70 लाख रुपए दी गयी है.

राज्यवासियों को सस्ती एयर एबुलेंस की सुविधा

बेहतर स्वास्थ्य की दिशा में हेमंत सरकार जल्द ही राज्यवासियों को सस्ती एयर एबुलेंस की सुविधा देने जा रही है. मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन ने बीते दिनों इसकी घोषणा की है. उन्होंने कहा है कि राज्य में जल्द ही एयर एंबुलेंस की सुविधा बहाल की जाएगी. ये सुविधा आमजनों को बिल्कुल सरकारी दर पर उपलब्ध कराई जाएगी. बेहतर इलाज के लिए मरीजों को देश के किसी भी कोने में स्थापित अस्पताल में जाना हो तो वे एयर एंबुलेंस की सुविधा ले सकते हैं.

सस्ती जेनेरिक मेडिसिन सुविधा दिलाने की दिशा में भी काम कर रही सरकार

बेहतर स्वास्थ्य दिलाने की दिशा में हेमंत सोरेन सरकार तैयारी में है कि ग्रामीण क्षेत्रों में भी जरूरतमंद मरीजों को जेनेरिक मेडिसिन उपलब्ध कराया जाया सके. इसी तरह राज्य के मेडिकल सर्किटों को एक-दूसरे से जोड़ने करने का काम किया जा रहा है.

इसे भी पढ़े- भारत के 100 सबसे शक्तिशाली व्यक्तियों में शामिल हुए झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन

Advertisement
स्वास्थ्य क्षेत्र में 15 साल के वनवास को सीएम हेमंत सोरेन ने किया खत्म, जिलों में करोड़ खर्च कर लोगों को मिलने जा रही सुविधाएं 1