UPA अध्यक्ष सोनिया गाँधी के साथ बैठक में बोले CM सोरेन, जीएसटी की मार झेल रहा झारखंड समय पर नहीं मिल पाता है हिस्सा

Share on facebook
Share on twitter
Share on email
Share on telegram
Share on reddit

UPA अध्यक्ष सोनिया गाँधी के साथ सभी यूपीए शासित राज्यों के मुख्यमंत्रियों ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये भाग लिया। इस बैठक में झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन भी मौजूद रहे.

UPA बैठक में हेमंत सोरेन ने केंद्र सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा की हमने प्रधानमंत्री को झारखण्ड की स्थिति से अवगत कराया है. यूपीए द्वारा लागू की गई मनरेगा (MNREGA) योजना किसानों, बेरोजगारों और जरूरतमंदों के लिए मील का पत्थर साबित होगा. अब झारखण्ड केंद्र को मनरेगा में नीतिगत अधिकार से आच्छादित करने का आग्रह करेगा, जिससे मनरेगा में योजना का चयन, मजदूरी दर का निर्धारण का अधिकार मिले. राज्य सरकार दिव्यांगों, बुजुर्गों को उनकी क्षमता के अनुरूप रोजगार उपलब्ध करा, उनके आर्थिक स्वावलंबन का मार्ग प्रशस्त कर सके. राज्य में मनरेगा मजदूरी की दर कम है, इसे बढ़ाने की मांग केंद्र सरकार से की गई है.

Also Read: राजधानी राँची में शुरू हुई शराब की “होम डिलीवरी”, जानिए कौन कर रहा है यह काम

मुख्यमंत्री ने कहा कि जीएसटी की मार झारखण्ड झेल रहा है. समय पर झारखण्ड को उसका हिस्सा नहीं मिल पाता है. आर्थिक संकट देश समेत सभी राज्यों में है. राज्य में भी धन संग्रह की व्यवस्था होनी चाहिए. केंद्र द्वारा घोषित आर्थिक पैकेज से गरीबों, बेरोजगारों को क्या मिलेगा, यह सर्वविदित है. मजदूरों, किसानों और बेरोजगारों पर विशेष ध्यान देने की आवश्यकता है.

Also Read: युवा कांग्रेस ने एक दिन का NYAY देकर केंद्र सरकार से वंचित के लिए 6 महीने के लिए NYAY की मांग की है

मुख्यमंत्री ने बताया कि झारखण्ड में कोरोना संक्रमण से पूर्व और बाद में सामाजिक सुरक्षा और बेहतर स्वास्थ्य सेवाओं पर कार्य किया गया. यह सुखद है कि झारखण्ड में संक्रमित लोगों का रिकवरी दर 90 प्रतिशत से ऊपर है, मृत्यु दर कम है. अपने सीमित संसाधनों से राज्य सरकार लोगों की सेवा में जुटी हुई है. आनेवाले दिनों में हमें स्वास्थ्य सेवा में आत्मनिर्भर होना होगा. सरकार को इस बात का गर्व है कि आज सभी व्यवस्था सरकारी व्यवस्था पर टिकी है. सरकारी व्यवस्था ने अपनी जिम्मेदारियों का निर्वहन बखूबी किया है. संकट के दौर में लोगों का भरोसा भी सरकारी व्यवस्था पर बढ़ा है.

Also Read: एयरलाइंस ने शुरू की टिकट बुकिंग, जानिए कब से शुरू हो रही है हवाई यात्रा, दिल्ली से रांची के लिए क्या होगा किराया

वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के दौरान पूर्व प्रधानमंत्री एचडी देवगौड़ा, पूर्व केंद्रीय गृहमंत्री पी चिदंबरम, गुलाम नबी आजाद, शरद पवार, पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी, महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे, सीताराम येचुरी, शरद यादव, उमर अब्दुल्ला, तेजस्वी यादव, पीके गुजारिकटी व यूपीए घटक दलों के प्रतिनिधि शामिल हुए.

Leave a Reply

In The News

राँची: मोहराबादी मैदान में आंदोलन कर रहे सहायक पुलिसकर्मीयों पर लाठी चार्ज, जानिए ऐसा क्यों हुआ

झारखंड के सभी जिलो के अंतर्गत कार्य करने वाले सहायक पुलिसकर्मी पिछले कुछ दिनों से राजधानी राँची के मोहराबादी मैदान…

रिम्स की व्यवस्था से हाईकोर्ट नाराज़ कहा, सलाना मिलने वाले 100 करोड़ का क्या किया जाता है

झारखंड हाईकोर्ट ने रिम्स की व्यवस्था को लेकर एक बार फिर सवाल पूछा है। अदालत ने रामरस में डॉक्टर और…

मानसून सत्र शुरू होते ही भाजपा विधायक ने हाथों में तख्ता लेकर राज्य सरकार का जताया विरोध

झारखंड विधानसभा का मानसून सत्र आज 18 सितंबर से शुरू हो गया है। कोरोना महामारी को देखते हुए पुख्ता इंतजाम…

मानसून सत्र से पहले स्पीकर का विधायको से अपील, सदन को सुचारु रूप से चलने में करे सहयोग

झारखंड विधानसभा का मानसून सत्र आज से शुरू हो रहा है। झारखंड विधानसभा का मानसून सत्र 18 सितंबर से लेकर…

कोरोना से जंग जीतकर दिल्ली से लौटे झामुमो अध्यक्ष शिबू सोरेन, CM खुद लेने पहुंचे एअरपोर्ट

कोरोना संक्रमित होने के बाद झारखंड के पूर्व मुख्यमंत्री सह वर्तमान में राज्यसभा सांसद एवं झामुमो सुप्रीमो शिबू सोरेन कोरोना…

दुमका दौरे पर जाने की तैयारी में बाबूलाल, उपचुनाव में झामुमो को शिकस्त देने पर बनायेगे रणनीति

झारखंड के 2019 विधानसभा चुनाव के बाद भाजपा में घर वापसी करने वाले राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल मरांडी तकरीबन…

Get notified Subscribe To The News Khazana

Follow Us

Popular Topics

Trending

Related News

जोहार 😊

Popular Searches