Share on facebook
Share on twitter
Share on pinterest
Share on email
Share on print
Share on whatsapp
Share on telegram

WhatsApp Image 2020-01-13 at 12.37.46 PM.jpegNRC और CAA के विरोध में धनबाद के वासेपुर के लोगो ने एक रैली निकली थी. जिसमे तिरंगे को हाथो में लेकर लोगो ने भारतीय नागरिकता कानून को लागू करने के खिलाफ शांतिपूर्ण प्रदर्शन किया था. धनबाद थाना प्रभारी के द्वारा ये दलील दी गई की प्रदर्शन करने वाले लोगो ने इसकी अनुमति नहीं ली थी. जिसके कारन धनबाद थाना प्रभारी के द्वारा 3000 लोगो पर राजद्रोह का मुकदमा दर्ज किया गया था. लेकिन प्रदर्शन कर रहे लोगो का कहना था की अंचल अधिकारी ने उन्हें अनुमति दी थी तभी हमने शांतिपूर्ण मार्च निकला था.

ads

Also Read: विद्यालय प्रबंधन की लापरवाही से नहीं मिला एडमिट कार्ड कई विद्यार्थियों का भविष्य अँधेरे में लटका

मामले को संज्ञान में लेते हुए राज्य के मुखिया हेमंत सोरेन ने आदेश दिया की 3000 लोगो पर किये गए मुक़दमे को वापस लिया जाये। जिसके बाद पुलिस विभाग ने इसे गंभीरता से लेते हुये धनबाद थाना प्रभारी को तत्काल प्रभाव से निलंबित करते हुए लोगो पर दर्ज राजद्रोह के मुक़दमे को वापस ले लिया गया

Also Read: एक्शन में हेमंत सरकार, 3000 लोगो पर दर्ज राजद्रोह के मुक़दमे पर दिया बड़ा आदेश

धनबाद के 3000 लोगों के ऊपर राजद्रोह के मामले को निरस्त कराने में महत्वपूर्ण योगदान निभाने के लिए वासेपुर अवेयरनेस सोसाइटी द्वारा झामुमो जिला जिलाध्यक्ष श्री रमेश टुडू का जोरदार सम्मान किया गया। कार्यक्रम के मुख्य संचालनकर्ता अबु तारीक ने सर्वप्रथम श्री रमेश टुडू का फूलमाला से स्वागत किया एवं वासेपुर के तमाम लोगो के तरफ से शुक्रिया कहा।

इस कार्यक्रम को संबोधित करते हुए श्री रमेश टुडू ने कहा कि अब राज्य में माननीय हेमंत दा की सरकार हैं जो किसी भी तरह का हिटलरशाही मनोवृति बर्दाश्त नहीं करेगा। राज्य में एकता और भाईचारा बना रहे यही पहली प्राथमिकता हैं। पिछले दिनों शान्तिप्रिय ढंग से प्रदर्शन कर रहे लोगों के ऊपर जिस तरह राजद्रोह का धारा लगाया गया वह पूरी तरह निंदनीय हैं। हमारी सरकार ने फौरन संज्ञान लेते हुए इस फैसले को निरस्त किया एवं दोषी अधिकारियों के कारवाई करने का आदेश दिया। श्री टुडू ने मौजूद युवाओं से अपील करते हुए कहा कि हमे भी कानून और संविधान के दायरे में रहकर हर उस चीज का विरोध करना हैं जो राज्य के शांति और भाईचारा के खिलाफ हैं। आइए हम सभी मिलकर झारखंड को सबसे बेहतरीन राज्य बनाने एवं नयी ऊचाईयों की तरफ ले जाने को अग्रसर होते हैं।

Also Read: जनता को परेशान करने वाले अधिकारी हो जाये सावधान ! क्यूंकि ये है हेमंत सरकार

इस कार्यक्रम में मुख्य रूप से अरुनव सरकार, मो आजाद मुखिया, अबु तारीक, मंसूर आलम, नईम अंसारी, हाजी ग्यास, हाजी सागिर, हाजी शमीम, हाजी लुकमान, मो नेहाल, मो सबीर, शहबाज आलम, फरहान अख्तर, अफरोज आलम, इर्शाद आलम, मो सद्दाम, हैदर अली, मो शहजाद उस्मानी, मो अशफाक, मो कामिल, मो रिजवान, ओसामा बिन जमील, मो वहीद, शरीक मौशीर, कमार अहमद, शरीक कमार, मो कामरान, अली राजा, मो वासीफ अली, मो कलाम क़ुरैशी, मो शमीम, शिराज अख्तर, शानू खान, मो इरफान, मो अजाम जब्बार सहित सैंकड़ों की संख्या में युवा उपस्थित थे।

Leave a Reply