प्रमाण पत्र सत्यापन नहीं होने के कारण नवनियुक्त शिक्षको को कई महीनो से नहीं मिला है वेतन

झारखंड राज्य माध्यमिक शिक्षक संघ ने माध्यमिक शिक्षा निर्देशक को पत्र लिख कर आग्रह किया था की कुछ जिलों में नवनियुक्त शिक्षको को उनके प्रमाण पत्र सत्यापन सही समय पर नहीं होने के कारण वेतन नहीं मिल रहा है. प्रमाण पत्रों को जल्द सत्यापन कर वेतन भुगतान किया जाए.

Also Read: 6th JPSC के परिणाम को चुनौती देने वाली याचिका पर रोक लगाने से हाई कोर्ट का इंकार

17/04/2020 को झारखंड राज्य माध्यमिक शिक्षक संघ ने अपने पत्र में लिखा की ज्ञापन 2322 के द्वारा राज्य के सभी शिक्षा पदाधिकारियों को ये निर्देश दिया गया की नवनियुक्त शिक्षको के प्रमाण पत्रों का सत्यापन 2 माह के अंदर करवा कर वेतन भुगतान किया जाए लेकिन ऐसा नहीं हो पाया। परन्तु फिर एक बार ज्ञापन 2604 में कहा गया की 15 दिनों के अंदर प्रमाण पत्रों का सत्यापन कर वेतन भुगतान किया जाये।

Also Read: 65 हज़ार पारा शिक्षकों के स्थायीकरण का रास्ता साफ़, कैबिनेट से सहमति मिलने के बाद होगा लागू

प्रमाण पत्रों का सत्यापन कर वेतन भुगतान करने के लिए माध्यमिक शिक्षा निर्देशालय की सचेष्टा और जिला शिक्षा पदाधिकारियों की तत्परता के बाद भी नवनियुक्त शिक्षको को अब तक वेतन नहीं मिला है.

शिक्षक संघ ने अपने पत्र में कहा है की 2010 में नवनियुक्त शिक्षको के प्रमाण पत्रों के सत्यापन में देरी होने के करण उन्हें शपथ पत्र के आधार पर वेतन दिए गए थे. हम पुनः से मांग करते है की 2010 के आधार पर ही शपथ पत्र को आधार बनाकर वेतन भुगतान किया जाये।

Leave a Reply