Share on facebook
Share on twitter
Share on pinterest
Share on email
Share on print
Share on whatsapp
Share on telegram

झामुमो विधायक जगन्नाथ महतो को सोमवार को हाईकोर्ट से राहत मिली है। जस्टिस आनंद सेन की अदालत ने उनके खिलाफ पीड़क कार्रवाई नहीं करने का निर्देश दिया है।

ads

App Link: bit.ly/30npXi1

जगन्नाथ महतो के खिलाफ वर्ष 2014 में आदर्श आचार संहिता उल्लंघन करने का मामला दर्ज किया गया था। इस मामले में सुनवाई करते हुए निचली अदालत ने उन्हें समन जारी किया था। समन जारी होने के बाद वह कोर्ट में उपस्थित नहीं हुए। इसके बाद अदालत ने वारंट जारी किया।

जगन्नाथ महतो ने हाईकोर्ट में निचली अदालत के संज्ञान को चुनौती देते हुए कहा है कि उनके खिलाफ मामला नहीं बनता है। इस कारण उनके खिलाफ वारंट निरस्त किया जाएगा। सुनवाई के बाद अदालत ने जगन्नाथ महतो के खिलाफ कोई पीड़क कार्रवाई नहीं करने का निर्देश दिया।

Also Read: गिरीडीह से आजसू सांसद चंद्रप्रकाश चौधरी के आप्त सचिव की कुर्की जप्ती का आदेश- जाने क्यों हुआ ऐसा

बता दे की जगरनाथ महतो डुमरी विधानसभा से विधायक है और हेमंत सरकार में मंत्री भी बनाये जा सकते है. जगरनाथ महतो 2019 के लोकसभा चुनाव में झामुमो की टिकट पर गिरिडीह लोकसभा क्षेत्र से चुनाव लड़ चुके है जिसमे उन्हें आजसू के चंद्रप्रकाश चौधरी से हर का मुँह देखना पड़ा था और दूसरे स्थान पर रहे थे. लेकिन विधानसभा चुनाव में जगरनाथ महतो ने अपनी बादशाहत बरक़रार राखी और फिर से विधायक चुने गए.

ads

App Link: bit.ly/30npXi1

 

Leave a Reply