Skip to content
04DHA_04GODDA36_1646431856_1646431856
Advertisement

Godda News: कस्टडी में युवक से मारपीट करने का पुलिस पर लगा आरोप, पूछताछ के लिए युवक को ले गई थी थाने

Arti Agarwal

Godda News: झारखंड के गोड्डा जिले के महागामा अस्पताल में शुक्रवार की देर शाम जमकर बवाल होते देखा गया. पुलिस पर जियाउद्दीन नामक एक युवक के परिजनों ने यह आरोप लगाया कि उसे पूछताछ के लिए पुलिस थाने ले गई थी जहां उसके साथ मारपीट की गई.

परिजनों का आरोप था कि जियाउद्दीन अंसारी के साथ पुलिस ने मारपीट की है. अस्पताल पहुंचने पर परिजनों ने इसको लेकर काफी हंगामा किया था युवक को छोड़ने का आग्रह पुलिस से करती रही. युवक के परिजनों का आरोप है कि पुलिस जियाउद्दीन अंसारी और जुल्फिकार अंसारी को लगातार पीट रही थी जिससे उसकी हालत खराब हो गई. पिता नूर मोहम्मद अंसारी ने कहा कि पुलिस के द्वारा 28 फरवरी को ही दोनों को उठाया गया था पुलिस ने यह कह कर उसे उठाया था की पूछताछ करनी है परंतु थाने ले जाने के बाद उनके साथ मारपीट और प्रताड़ित किया गया है.

परिजनों ने यह भी कहा है कि पीड़ित युवक की पत्नी  को भी जियाउद्दीन से मुलाकात करने नहीं दिया गया अंततः पूर्णिया में प्रसव के दौरान जियाउद्दीन की पत्नी और गर्भ में बच्चे की मौत हो गई. परिजनों ने महागामा थाना पहुंचकर जियाउद्दीन की पत्नी का शव और बच्चे का शव थाने ले जाकर पुलिस को दिखाया और उसे छोड़ने की मांग की गई. पुलिस जिस वक्त जियाउद्दीन को लेकर अस्पताल पहुंची थी उस समय वह जख्मी हालत में था जिसके बाद उसे गोड्डा सदर अस्पताल रेफर कर दिया गया.

संदेह के आधार पर युवक से पूछताछ के लिए पुलिस ने उठाया था:  एसडीपीओ

एसडीपीओ शिवशंकर तिवारी से पूरे मामले पर जब जानकारी मांगी गई तो उन्होंने कहा कि जियाउद्दीन मर्डर केस में अभियुक्त रह चुका है. बंधन बैंक मामले में पुलिस ने संदेह के आधार पर उसे थाना लाया था युवक से सिर्फ पूछताछ की गई थी उनके परिजन ने पत्नी व बच्चे की मौत की सूचना दी है हो सकता है युवक जियाउद्दीन को सदमा लग गया है पुलिस ने किसी भी प्रकार से युवक को प्रताड़ित नहीं किया है. वही महागामा थाना प्रभारी ने परिजनों द्वारा लगाए जा रहे आरोप को मनगढ़ंत करार दिया है. कहा है कि आरोपी हत्या का आरोपी रह चुका है. बंधन बैंक लूटकांड के दिन उसकी गतिविधि की पहचान की गई थी पुलिस ने इसलिए तेतरिया गांव से दोनों को उठाया था. सिर्फ दोनों से पूछताछ की गई है किसी प्रकार का टॉर्चर नहीं किया गया है.

बता दें कि फरवरी महीने के अंतिम दिन में बंधन बैंक लूटकांड की घटना को अंजाम दिया गया था उसी घटना को आधार बनाते हुए पुलिस ने संदेह के आधार पर जियाउद्दीन और एक अन्य व्यक्ति को गिरफ्तार कर पूछताछ के लिए थाने ले गई थी. झारखंड पुलिस लगातार ऐसे मामलों को लेकर सवालों के घेरे में खड़ी नजर आती है जहां ठोस सबूत और पुख्ता जानकारी के अभाव में लोगों को पूछताछ के लिए उठाती है और उसे प्रताड़ित करते हुए बिना कोई आरोप सिद्ध हुए छोड़ देती है. इससे पहले बोकारो जिला में भी एक ऐसा ही मामला सामने आया था जहां एक शिक्षक को पुलिस ने प्रताड़ित किया था जिसके बाद मामला तूल पकड़ने लगा और मामला राज्य स्तरीय भी बना.

Leave a Reply