Skip to content
trtml-tnk

यूरिया खाद की कमी को दूर करे सरकार : संजय मेहता

News Desk

यूरिया खाद की कमी को लेकर आप ने सरकार पर हमला बोला है। पार्टी के बरही विधानसभा प्रभारी एवं पूर्व प्रत्याशी संजय मेहता ने प्रेस बयान जारी करते हुए कहा है कि सरकार यूरिया खाद की कमी पर गंभीर नहीं है जिससे कालाबाजारी हो रही है। किसानों को भारी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है।

Advertisement

इस साल समय पर यूरिया खाद प्राप्त मात्रा में उपलब्ध नहीं हो सका है। उसका खामियाजा राज्य के किसानों को उठाना पड़ रहा है। पर्याप्त यूरिया खाद नहीं मिलने के कारण किसान परेशान हैं। इसके कारण बाजार में यूरिया खाद की जमकर कालाबाजारी भी हो रही है।

किसानों को ऊंचे दाम पर यूरिया की खदीददारी करनी पड़ रही है। मांग के अनुरूप आपूर्ति कम होने के कारण दुकानदार भी उसका नाजायज फायदा उठा रहे हैं।

चालू वर्ष में ससमय बारिश होने के कारण खरीफ फसल का आच्छादन बेहतर रहा है। अबतक 90 प्रतिशत से अधिक खरीफ फसल का आच्छादन हो चुका है। किसानों को अब यूरिया खाद की जरूरत है पर आवंटन नहीं मिलने के कारण खाद की कमी हो गई है।

450 से 500 रुपए प्रति बैग तक बिक रहा खाद

सुदूरवर्ती गाँवों में यूरिया खादा 450 से 500 रुपए प्रति बैग की दर से बिक रहा है। किसानों को अबतक 280 रुपए प्रति बैग की दर से खाद उपलब्ध हो जाता था।

किसानों को खाद के साथ दवाइयों का पैकेट भी जबर्दस्ती थमाया जा रहा है। उक्त पैकेट नहीं लेने से उन्हें खाद भी नहीं मिल रहा है।

किसानों का कहना है कि पिछले वर्ष की तुलना में खाद अधिक दाम पर मिल रहा है। उसकी शिकायत किसान कहां करें। कोई सुनने वाला नहीं है। संजय मेहता ने कहा कि किसानों की समस्या को लेकर हम सबको आवाज उठाने की जरूरत है। किसानों की समस्या पर सरकार को गंभीर होना होगा।

उन्होंने कहा कि सरकार इस कमी को तुरंत दूर करे। यदि सरकार इस कमी को दूर नहीं करती है तो आप आंदोलन के लिए बाध्य होगी।

Advertisement

Leave a Reply

Popular Searches