Skip to content
banna Gupta

निजी अस्पतालों को स्वास्थ्य मंत्री का अल्टीमेटम, कोरोना कि आड़ में मरीजों का शोषण करने पर होगा लाइसेंस रद्द

News Desk

झारखंड में कोरोना के मामले तेजी से बढ़ रहे है. 400-500 की औसत दर से प्रत्येक दिन कोरोना संक्रमित सामने आ रहे है. राज्य के सरकारी अस्पतालों में कोरोना मरीजों का इलाज चल रहा है. मरीज अपनी सुरक्षा को देखते हुए निजी अस्पतालों का रुख करते है. लेकिन निजी अस्पताल के संचालको द्वारा मरीजों के साथ कोरोना के नाम पर शोषण किया जाता है.

Advertisement

Also Read: झारखंड में कोरोना का आंकड़ा पहुंचा 23 हज़ार के पार, रविवार को 546 संक्रमितों कि पुष्टि

झारखंड के स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता ने इस तरह के मामलो पर संज्ञान लेते हुए निजी अस्पतालों को साफ़ हिदायत देते हुए कहा कि कोरोना के नाम पर मरीजों का शोषण किया जा रहा है. कई शिकायत प्राप्त हुई है. साबुत के साथ अगर किसी भी अस्पताल कि शिकायत आएगी तो सरकार बिना संकोच किये उसका लाइसेंस रद्द कर देगी। इस विकट और महामारी के समय भी निजी अस्पताल इसे अपनी कमाई का जरिया बना रहे है जो कि बिल्कुल गलत है.

Advertisement

Leave a Reply

Popular Searches