Skip to content

JAC मैट्रिक और इंटर के प्रश्नों में किया जायेगा बदलाव!, 60% संशोधित सिलेबस से होगे सवाल

Arti Agarwal

Covid-19 महामारी के कारण झारखंड एकेडमिक काउंसिल ने मैट्रिक और इंटर के सिलेबस में 40 फ़ीसदी की कटौती की है जिसके बाद संशोधित सिलेबस जारी कर दिया गया है 40 फ़ीसदी सिलेबस में कटौती करने के बाद संशोधित 7 फ़ीसदी सिलेबस को जारी किया गया है अब शिक्षा विभाग अगले वर्ष यानी 2021 के मार्च में होने वाली मैट्रिक और इंटर की परीक्षा में पूछे जाने वाले प्रश्नों में भी बदलाव करने की तैयारी में है विभाग ने यह साफ कर दिया है कि 60 फ़ीसदी सिलेबस सही विद्यार्थियों को प्रश्न पूछे जाएंगे

Advertisement

लेकिन मैट्रिक और इंटर के परीक्षा में पूछे जाने वाले प्रश्नों में बड़ा बदलाव देखने को मिल सकता है विभाग ऑब्जेक्टिव प्रश्नों की संख्या बढ़ा सकती है वहीं सब्जेक्टिव प्रश्नों में ज्यादा विकल्प देने की तैयारी में है इसके लिए स्कूली शिक्षा और साक्षरता विभाग दूसरे राज्यों के परीक्षा पैटर्न सीबीएसई के पैटर्न का भी आकलन कर रहा है उम्मीद जताई जा रही है कि इस महीने के अंत तक इस पर अंतिम निर्णय ले लिया जाएगा कि किस पैटर्न पर परीक्षा ली जाएगी.

Also Read: Jharkhand GDS Vacancy: 10वीं पास के लिए डायरेक्ट भर्ती, नहीं होगी कोई परीक्षा

स्कूली शिक्षा और साक्षरता विभाग सीबीएससी, ओडिशा और राजस्थान बोर्ड द्वारा अपनाए गए मापदंडों का अध्ययन कर रही है और उसकी तुलना झारखंड में जैक के द्वारा पूछे जाने वाले प्रश्नों से कर रही है राज्य सरकार संशोधित 60 फ़ीसदी सिलेबस के प्रत्येक चैप्टर से प्रश्न पूछने की तैयारी कर रही है

मॉडल प्रश्न पत्र में दिखेगा बदलाव:

JCERTC के निदेशक डॉ शैलेश चौरसिया ने कहा है कि सीबीएसई का परीक्षा पैटर्न और मार्किंग पैटर्न आसान होता है उसका अध्ययन किया जा रहा है इन सब के बाद निर्णय लिया जाएगा कि परीक्षा पैटर्न या मार्किंग पैटर्न में क्या बदलाव होगा.

Also Read: झारखण्ड के छात्रों के लिए एयरफोर्स में नौकरी करने का सुनहरा मौका, जल्द करे आवेदन

लेकिन मैट्रिक और इंटरमीडिएट के विद्यार्थियों के लिए दिसंबर में मॉडल प्रश्न पत्र जारी किए जाएंगे और संभावना जताई जा रही है कि इसी मॉडल प्रश्न पत्र में पाटन में होने वाले बदलाव को साफ देखा जाएगा और पैटर्न में जो बदलाव किए जाएंगे उसकी पूरी जानकारी इसी मॉडल प्रश्न पत्र में दिए जाएंगे मॉडल प्रश्न पत्र में ऑब्जेक्टिव प्रश्नों की संख्या बढ़ाने और सब्जेक्टिव में ज्यादा विकल्प देने की बात परीक्षार्थियों तक पहुंचाई जाएगी विद्यार्थियों को मॉडल प्रश्न पत्रों के साथ उसकी उत्तर पुस्तिका भी उपलब्ध कराई जाएगी विभाग द्वारा मॉडल प्रश्न पत्र तैयार करने पर भी विभाग जुटा हुआ है

Leave a Reply