Skip to content
Advertisement

झारखंड: मुख्यमंत्री रोजगार योजना के तहत लाभुको के बीच 104 करोड़ रुपए हुए वितरित

Divya Kumari

झारखंड: सीएम हेमंत सोरेन ने बेरोजगार युवाओं के बीच स्वरोजगार को बढ़ावा देने के लिए मुख्यमंत्री रोजगार सृजन योजना की शुरुआत की थी. अब ये योजना लोगों के लिए वरदान साबित हो रही है. इस योजना के माध्यम से न सिर्फ वो खुद मालिक बन अच्छी कमाई कर रहे हैं बल्कि दूसरों को रोजगार भी दे रहे हैं.

इसी का परिणाम है कि पूर्वी सिंहभूम के 940 युवाओं को इस योजना का लाभ मिला है. उनके बीच स्वरोजगार हेतु 6.26 करोड़ की राशि निर्गत हुई. उसी तरह दुमका के 657 युवाओं को इस योजना से जोड़ा गया और स्वरोजगार के लिए इन्हें 11.66 करोड़ रूपये ऋण दिया गया. वहीं, हजारीबाग में 567 युवाओं के बीच 7.31 करोड़ की राशि बतौर ऋण निर्गत हुई. इस योजना में सफलता की वजह सरकार द्वारा किया गया सरलीकरण है.

झारखंड सरकार ने स्वरोजगार से जोड़ने के लिए 104.97 करोड़ कर चुकी है स्वीकृत

आपको बता दें कि मुख्यमंत्री रोजगार सृजन योजना के तहत विगत दो वित्तीय वर्ष में 2021-22 एवं 2022-23 में राज्य भर के 6272 युवाओं को स्वरोजगार हेतु सरकार ने 104.97 करोड़ रूपये का ऋण प्रदान किया है. वहीं वित्तीय वर्ष 2023-24 में करीब दो लाख युवाओं को इस योजना से जोड़ने का लक्ष्य रखा गया है.

इसे भी पढ़े- JDLCCE ने 1561 पदों के लिए आवेदन की प्रक्रिया शुरु, जल्द करें आवेदन

झारखंड सरकार ने राज्य में स्वरोजगार को बढ़ावा देने के लिए मुख्यमंत्री रोजगार सृजन योजना की शुरूआत की थी. इस योजना के तहत सरकार 25 लाख रुपये तक लोन देती है. ये लोन कम ब्याज पर उपलब्ध कराया जाता है. अगर आवेदक व्यवसाय करने के लिए 50 हजार तक लोन उठाता है तो उन्हें इसका लाभ बेहद आसानी से बिना किसी गारंटी के मिल जाता है. इस योजना का लाभ 18 से 45 वर्ग के आयु के लोग ले सकते हैं. हालांकि, इसका लाभ अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति, पिछड़ा एवं अल्पसंख्यक वर्ग के लोग ही उठा सकते हैं.

Advertisement
झारखंड: मुख्यमंत्री रोजगार योजना के तहत लाभुको के बीच 104 करोड़ रुपए हुए वितरित 1