Skip to content
Coal Mines Jharkhand

झारखंड की 5 कोयला खदानो की लगी बोली, अडानी ने 4 कोयला खदानो के लिए लगाई बोली

Shah Ahmad

देश में हुए लोग डाउन के कारण भारत की अर्थव्यवस्था में भारी गिरावट देखने को मिली है इस गिरावट को रोकने के लिए और फिर से देश की अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने के लिए केंद्र सरकार की तरफ से कोयला खदानों को निजी हाथों में सौंपने की तैयारी की गई है केंद्र सरकार कोयला खदानों को निजी हाथों में सौंप कर अधिक से अधिक मुनाफा कमाने की कोशिश में लगी है इसी वजह से कई कुल कंपनियां है जो कॉल ब्लॉक्स की नीलामी में दिलचस्पी ले रहे हैं झारखंड में भी कई कॉल ब्लॉक से जिन की नीलामी होनी है और इस कॉल ब्लॉक नीलामी में कई प्राइवेट कंपनियां हिस्सा लेकर इन कोल ब्लॉकों को अपना बनाना चाहती है।

Advertisement

कॉल ब्लॉक की नीलामी को लेकर कई मजदूर संगठन सड़कों पर उतरे थे साथ ही राज्य सरकार इस मामले को लेकर सुप्रीमकोर्ट भी गई है। राज्य सरकार का कहना था कि राज्य की कोल ब्लॉक की नीलामी केंद्र सरकार मनमाने ढंग से कर रही है जबकि इस पर राज्य सरकार का भी हक बनता है परंतु एक बार भी राज्य सरकार से इस बारे में विचार विमर्श नहीं किया गया या दर्शाता है कि केंद्र सरकार राज्यों को अपने सामने कुछ नहीं मानती है उनकी मर्जी में जो भी आता है वह करते जाते हैं अब ऐसा नहीं चलेगा।

झारखंड की पांच कोयला खदानों के लिए 19 कंपनियों ने बोली लगाई है अडानी, हिंडालको, वेदांता समेत 19 कंपनियों ने यह बोली लगाई है ब्रह्माडीहा, चकला, गोंधलपाड़ा, राजघरानों जैसे कॉल ब्लाक के लिए बोली लगी है।

Advertisement

Leave a Reply

Popular Searches