chaibasa police

Jharkhand: पुलिस और PLFI नक्सलियों के बीच मुठभेड़, हथियार छोड़ भागे नक्सली

Arti Agarwal
Share on facebook
Share on twitter
Share on email
Share on pocket

चाईबासा में पुलिस और नक्सलियों के बीच मुठभेड़ हुई पुलिस और नक्सलियों के बीच बंदगांव थाना क्षेत्र के खांडा गांव स्थित जंगल क्षेत्र में पुलिस ने शुक्रवार की शाम नक्सलियों के खिलाफ सर्च अभियान चलाया इसी दौरान जंगल में छिपे नक्सली संगठन के लोगों को देख पुलिस ने घेरने का प्रयास किया तो नक्सलियों के द्वारा पुलिस पर फायरिंग शुरू कर दी गई जिसके बाद पुलिस ने भी जवाबी फायरिंग की.

Advertisement

बताया जा रहा है की नक्सली संगठन पीएलएफआई के सदस्यों के साथ पुलिस की मुठभेड़ हुई है जिनमें दिनेश गोप और जीवन गुड़िया दस्ते के नक्सली शामिल थे पुलिस के द्वारा की गई जवाबी फायरिंग के बाद नक्सली हथियार छोड़ मौके से फरार हो गए. पुलिस ने मौके से नौ हथियार बरामद किए हैं साथ ही जिंदा कारतूस वॉकी टॉकी मोबाइल और अन्य समाज भी बरामद किए गए हैं

इसे लेकर शनिवार को पुलिस के द्वारा मीडिया को बताया गया कि नक्सलियों को आत्मसमर्पण करने की चेतावनी दी गई थी परंतु नक्सलियों ने नहीं मानी और फायरिंग शुरू कर दी जिसके जवाब में पुलिस के द्वारा जवाबी फायरिंग की गई फायरिंग बंद होने के बाद जब सर्च ऑपरेशन चलाया गया तो 1 SLR, 7.62 MM LMG, 1 315 राइफल, एक दो नाली बंदूक, 13 मैगजीन, 6 कंट्री मेड 9mm पिस्टल और एक वॉकी टॉकी बरामद की गई है.

पूर्व की रघुवर दास सरकार ने नक्सली दिनेश गोप को पकड़ने की पूरी कोशिश की थी परंतु वह हाथ नहीं लग सका था जिसके बाद उनकी दोनों पत्नियां हीरा देवी और शकुंतला कुमारी को गिरफ्तार किया गया था साथी उसके रिश्तेदारों की दर्जनों संपत्तियों को भी जप्त किया गया था एनआईए के द्वारा लगातार दिनेश गोप को पकड़ने के लिए अभियान चला रही थी इसके लिए ₹500000 का इनाम भी घोषित किया गया है दबिश पढ़ने के बाद वह अंडरग्राउंड हो गया है एनआईए और रांची पुलिस के अलावा रांची के सीमावर्ती आधा दर्जन जिलों की पुलिस भी उसकी तलाश कर रही है

इन सबके बीच सबसे बड़ा चौंकाने वाली बात यह है की पीपुल्स लिबरेशन फ्रंट ऑफ इंडिया के मुखिया दिनेश गोप को पुलिस और एनआईए की टीम 16 साल से ढूंढ रही है लेकिन वह अब तक पुलिस की गिरफ्त से दूर है साथ ही पुलिस की तरफ से एक भी फोटो सार्वजनिक नहीं की गई है कुछ दिनों पूर्व भाई इंडियन मेडिकल एसोसिएशन के सेक्रेटरी से ₹20,00,000 रुपए रंगदारी मांगने की बात सामने आई थी जिसमें दिनेश गोप का नाम सामने आया था और जिसके बाद रांची के एसएसपी ने दिनेश गोप को ढूंढ कर गोली मारने की बात कही थी

Advertisement

Leave a Reply

Share on facebook
Share on twitter
Share on pocket
Share on whatsapp
Share on telegram

Popular Searches