hemant soren

संस्कृत विद्यालयों और मदरसों व उच्च विद्यालयों के शिक्षकों और कर्मियों के वेतन के लिए राशि स्वीकृत Jharkhand Government

Arti Agarwal
Share on facebook
Share on twitter
Share on email
Share on pocket

Jharkhand Government News: अराजकीय सहायता प्राप्त अल्पसंख्यक माध्यमिक विद्यालय के शिक्षकों तथा कर्मियों के वेतनादि के लिए 1 अरब, 91 करोड़ 41 लाख 86 हजार सहायता अनुदान को भी मंजूरी. अराजकीय सहायता प्राप्त प्रस्वीकृत संस्कृत विद्यालयों हेतु 5 करोड़ 10 लाख 26 हजार रुपए तथा अराजकीय प्रस्वीकृत मदरसों के लिए 58 करोड़ 85 लाख 20 हजार की सहायता अनुदान की राशि को मुख्यमंत्री का मिला अनुमोदन.

Advertisement

राज्य के उत्क्रमित उच्च विद्यालयों में स्वीकृत पदों के विरुद्ध कार्यरत शिक्षक तथा शिक्षकेत्तर कर्मियो तथा झारखंड कर्मचारी चयन आय़ोग की विज्ञप्ति संख्या -21 / 2016 के आलोक में इन विद्यालयों में चयनित एवं नियुक्त स्नातक प्रशिक्षित शिक्षकों के वेतनादि के भुगतान के लिए 700 करोड़ रुपए के स्कूली शिक्षा एवं साक्षरता विभाग के प्रस्ताव को मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन ने स्वीकृति दे दी है. वहीं, राज्य के अराजकीय सहायता प्राप्त अल्पसंख्यक माध्यमिक विद्यालय में सृजित पदों के विरुद्ध वैध तरीके से नियुक्त और कार्यरत शिक्षक तथा शिक्षकेत्तर कर्मियों के वेतनादि के लिए 1 अरब, 91 करोड़ 41लाख 86 हजार सहायता अनुदान की स्वीकृति प्रस्ताव को भी मुख्यमंत्री ने अनुमोदित कर दिया है. यह राशि वित्तीय वर्ष 2021-22 के लिए आवंटित की गई है.

Also Read: मुख्यमंत्री विशेष छात्रवृति योजना के लिए 10 करोड़ स्वीकृत, कक्षा 1-8 के विद्यार्थियों को मिलेगी छात्रवृति

संस्कृत विद्यालयों और मदरसों के लिए भी राशि स्वीकृत:

मुख्यमंत्री ने राज्य के अराजकीय सहायता प्राप्त प्रस्वीकृत संस्कृत विद्यालयों (उच्च, प्राथमिक सह मध्य और प्राथमिक स्तर के) के शिक्षकों तथा शिक्षकेत्तर कर्मियों के स्थापना व्यय हेतु 5 करोड़ 10 लाख 26 हजार रुपए सहायता अनुदान की राशि को भी मंजूरी दे दी है. इसके अलावा अराजकीय प्रस्वीकृत मदरसों के शिक्षकों तथा शिक्षकेत्तर कर्मियों के स्थापना व्यय हेतु सहायता अनुदान के लिए 58 करोड़ 85 लाख 20 हजार रुपए के स्कूली शिक्षा एवं साक्षरता विभाग के प्रस्ताव को मुख्यमंत्री ने अनुमोदन प्रदान कर दिया है. यह राशि वित्तीय वर्ष 2021-22 के लिए है.

Advertisement

Leave a Reply

Share on facebook
Share on twitter
Share on pocket
Share on whatsapp
Share on telegram

Popular Searches