Skip to content
jharkhand-high-court_1569395249

झारखंड हाई कोर्ट ने केंद्र सरकार को लगाई फटकार, कहा राज्य को सभी जरुरी उपकरण दिये जाए

tnkstaff

झारखण्ड सरकार लगातार केंद्र की मोदी सरकार पर आरोप लगा रही है की राज्य में कोरोना से लड़ने के लिए जितनी मात्रा में मेडिकल किट की जरुरत है उतनी केंद्र सरकार की ओर से उपलब्ध नहीं कराया जा रहा है. कोरोना को लेकर हाई कोर्ट में सुनवाई चल रही थी.

Advertisement

Also Read: स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता ने कहा, राज्य सरकार अपने स्तर से कोरोना को हराने में जुटा है, केंद्र से सहयोग की जरुरत

झारखंड हाईकोर्ट ने केंद्र सरकार को निर्देश दिया है कि वह प्राथमिकता के आधार पर प्रदेश को पीपीई कीट, सैंपल टेस्टिंग किट और वेंटिलेटर उपलब्ध कराए। इसके अलावा अदालत ने कोरोनावायरस से संक्रमित एवं संदिग्धों की जांच के लिए लगाए गए एएनएम और सहिया को ट्रेंड करने का भी आदेश दिया। हाई कोर्ट कोरोनावायरस से राज्य सरकार की तैयारियों को लेकर सुनवाई कर रही थी। इस दौरान अदालत ने कहा कि वर्तमान समय में मीडिया रिपोर्ट को इग्नोर नहीं किया जा सकता।

Also Read: प्रवासी मजदूरों को वापस लाने की तैयारी में हेमंत सरकार, लॉकडाउन के बाद 7 लाख मजदूर वापस लौटेंगे झारखंड

इसके पूर्व शनिवार को सुनवाई के दौरान अदालत ने सरकार से लॉक डाउन के बाद राज्य में दूसरे राज्यों से लोगों के आने के बारे में पूछा था। अदालत ने पूछा था कि बाहर से आने वालों और संदिग्ध मरीजों के लिए राज्य में कितने क्वारंटाइन होम और आइसोलेशन सेंटर बनाए गए हैं। इनमें कितने लोगों को रखा गया हैं। स्क्रीनिंग के बाद कितने लोगों की रिपोर्ट पॉजीटिव मिली है। राज्य के अस्पतालों में कोरोना की जांच की क्या व्यवस्था है और कितने स्थान पर सैंपल जांच की जा रही है। पीपीई की कमी पर चिंता जताते हुए हाई कोर्ट ने पूछा था कि सरकार के पास अभी कितने वेंटिलेटर हैं और कितने की जरूरत राज्य सरकार को है।

Advertisement

Leave a Reply

Popular Searches