hemant soren board exam

Jharkhand JAC 12th Exam 2021: CM हेमंत सोरेन ने 12वीं बोर्ड परीक्षा पर मांगी विद्यार्थियों की राय, केंद्र और राज्य सरकार परीक्षा पर लेंगी फैसला

Shah Ahmad
Share on facebook
Share on twitter
Share on email
Share on pocket

Jharkhand JAC 12th Exam 2021: 12वीं की बोर्ड परीक्षा पर अब केंद्र सरकार के द्वारा ही सिर्फ निर्णय नहीं लिया जाएगा बल्कि इसमें राज्य सरकार के फैसले का भी अहम योगदान रहेगा. परीक्षाओं को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के निर्देश के बाद रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह की अगुवाई में रविवार को एक उच्च स्तरीय बैठक रखी गई है.

Advertisement

इस बैठक में सभी राज्यों, केंद्र शासित प्रदेशों के शिक्षा मंत्रियों और परीक्षा कराने वाली एजेंसियों के साथ परीक्षा को लेकर विचार किया जाएगा. इस बैठक का अंदाजा इससे भी लगाया जा सकता है कि बैठक में न सिर्फ शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशांक होंगे बल्कि पूर्व में शिक्षा मंत्रालय की जिम्मेदारी संभाल चुके वर्तमान सूचना प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर और महिला व बाल विकास मंत्री स्मृति ईरानी भी होंगी. निशांक ने अपने पत्र में कहा है कि 12वीं की परीक्षाओं का प्रभाव दूसरे देश में सभी परीक्षाओं पर पड़ता है ऐसे में छात्रों की अनिश्चितता को कम करने के लिए सभी राज्य और केंद्र शासित प्रदेशों के सुझाव जान जायेंगे.

Also Read: जैक 10वीं और 12वीं की बोर्ड परीक्षा पर सरकार इस दिन लेगी बड़ा फैसला, रद्द होगी परीक्षा!

बैठक में शामिल होने से पहले झारखंड के मुख्यमंत्री और वर्तमान में शिक्षा विभाग संभाल रहे हेमंत सोरेन ने सोशल मीडिया पर पोस्ट करके सभी से सुझाव मांगे हैं. मुख्यमंत्री ने कहा कि “प्रदेश के कक्षा 12वीं में पढ़ने वाले सभी बच्चों के अभिभावकों, अध्यापकों एवं खुद छात्रों से इस वर्ष के बोर्ड परीक्षा पर राय जानना चाहता हूं. कृपया अपने बहुमूल्य सुझाव कमेंट कर साझा करें. इससे मुझे भारत सरकार के साथ होने वाली बैठक में आपके विचार सुझाव एवं परेशानियों को और भी बेहतर तरीके से रखने में मदद मिलेगी.

यदि आप भी 12वीं में पढ़ने वाले किसी अभ्यर्थी के अभिभावक, अध्यापक या खुद छात्र हैं तो मुख्यमंत्री के सोशल मीडिया में किए गए पोस्ट पर जाकर अपनी राय दे सकते हैं. बता दें कि केंद्र सरकार के द्वारा आयोजित बैठक में मुख्यमंत्री रविवार को शामिल होंगे जिस वजह से उन्होंने छात्रों और अभिभावकों  सहित अध्यापकों से भी राय मांगी है ताकि राज्य की स्थिति को स्पष्ट तरीके से उनके सामने रखा जा सके.

Advertisement

Leave a Reply

Share on facebook
Share on twitter
Share on pocket
Share on whatsapp
Share on telegram

Popular Searches