nia jharkhand

Jharkhand: NIA को मिली बड़ी कामयाबी, मानव तस्करी का मुख्य आरोपी खूंटी से किया गया गिरफ्तार

Shah Ahmad
Share on facebook
Share on twitter
Share on email
Share on pocket

झारखंड में मानव तस्करी का मामला दिन प्रतिदिन बढ़ता ही जा रहा है झारखंड के लोगों को मानव तस्कर बहला-फुसलाकर दूसरे राज्य ले जाते हैं और उनका शोषण करते हैं झारखंड में हो रही मानव तस्करी की जांच कर रही राष्ट्रीय जांच एजेंसी ने मानव तस्कर और उसके सहयोगियों के साथ उनके ठिकाने से उन्हें गिरफ्तार किया गया है

Advertisement

एनआईए ने उनके ठिकाने पर छापेमारी करके उन्हें गिरफ्तार पर मारी झारखंड के 4 जिलों में की गई जिनमें पाकुड़ साहिबगंज गुमला और खूंटी जिला शामिल है एनआईए की छापेमारी में इन चारों जिलों से भारी संख्या में आपत्तिजनक दस्तावेज रेलवे टिकट मोबाइल फोन सहित अन्य चीजें बरामद की गई है गिरफ्तार किए गए मानव तस्करों में मुख्य आरोपी गोपाल उरांव को खूंटी से गिरफ्तार किया गया है गिरफ्तार गोपाल उरांव खूंटी जिला के मुरहू थाना क्षेत्र के तुन गांव का रहने वाला है. या तस्कर प्लेसमेंट एजेंसी के नाम पर झारखंड की युवतियों का सौदा दूसरे राज्यों में करता था

एनआईए द्वारा झारखंड में हो रहे मानव तस्करी की जांच के दौरान मानव तस्कर पन्ना लाल महतो का सुराग मिला है पन्ना लाल महतो पूर्व में ही गिरफ्तार किया जा चुका है और आरोपी गोपाल उरांव को उसी का सहयोगी बताया जा रहा है कोटि के एंटी ह्यूमन ट्रैफिकिंग यूनिट के थाने में 19 जुलाई 2019 को मानव तस्करी का एक मामला दर्ज किया गया था इसी को एनआईए नहीं टेकओवर करते हुए इसी वर्ष 4 मार्च 2020 को री रजिस्टर्ड किया था और अनुसंधान शुरू किया था

एनआईए के द्वारा इस मामले की जांच के दौरान या मालूम चला था कि आरोपी पन्नालाल और उसकी पत्नी सुनीता देवी दिल्ली में 3 प्लेसमेंट एजेंसी के माध्यम से मानव तस्करी का धंधा कर रहे हैं यह आरोपी गरीब निर्दोष नाबालिक बच्चे बच्चियों को भला फुसलाकर दिल्ली सहित अन्य राज्यों में नौकरी दिलाने के बहाने तस्करी करते थे परंतु उन्हें इसके बदले रुपए नहीं देते थे गिरफ्तार किया गया आरोपी गोपाल उरांव इस धंधे में पन्नालाल का सहयोग करता था

Advertisement

Leave a Reply

Share on facebook
Share on twitter
Share on pocket
Share on whatsapp
Share on telegram

Popular Searches