jmm

JMM का बाबूलाल मरांडी पर पलटवार कहा, नहीं है कोई अस्तित्व- उपचुनाव में करारी हार का करना होगा सामना

Shah Ahmad
Share on facebook
Share on twitter
Share on email
Share on pocket
jmm

दुमका और बेरमो विधानसभा सीट पर उपचुनाव के लिए 3 नवंबर सुबह 7:00 बजे से ही मतदान की प्रक्रिया शुरू होगी लेकिन इससे पहले पक्ष और विपक्ष में जुबानी हमले तेज हो गए हैं बाबूलाल मरांडी ने प्रदेश कार्यालय में प्रेस कॉन्फ्रेंस कर राज्यों की हेमंत सरकार पर कई गंभीर आरोप लगाए तो वही दीपक प्रकाश पर हुए देशद्रोह के मुकदमे पर चुनौती देते हुए गिरफ्तार करने की बात कही बाबूलाल मरांडी पर पलटवार करते हुए झारखंड मुक्ति मोर्चा के प्रवक्ता सुप्रियो भट्टाचार्य ने कहा की दोनों सीटों पर हो रहे उपचुनाव में भाजपा को मुंह की खानी पड़ेगी और एक बार फिर दोनों सेठ महागठबंधन जीतकर जनता की सेवा करेगी.

Advertisement

सुप्रियो भट्टाचार्य में बाबूलाल मरांडी पर करारा प्रहार करते हुए कहा कि बाबूलाल मरांडी एक हताश और निराश चेहरा है. जनता उन्हें देखना पसंद नहीं करती है किसी तरह से वह इस बार चुनाव जीत गए हैं इसीलिए वह भाजपा में चले आए ताकि अपनी साख बचा सके कई चुनाव में मुंह के खाने के बाद मरांडी भाजपा के सहारे अपनी नैया पार लगाने की कोशिश में है लेकिन जिस प्रकार से कोल्हान प्रमंडल में भाजपा का सूपड़ा साफ हुआ है ठीक उसी प्रकार से आने वाले दिनों में राज्य से भारतीय जनता पार्टी विलुप्त हो जाएगी.

आगे सुप्रियो भट्टाचार्य ने कहा कि दुमका और बेरमो की जनता को बरगलाने के लिए बाबूलाल मरांडी कई दिनों तक घूम घूम कर झांसा दे रहे थे लेकिन जनता उनके झांसे में आने वाली नहीं है जनता एक बार फिर महागठबंधन को अपना आशीर्वाद देकर दोनों सीट जीतायेगी जबकि भारतीय जनता पार्टी को बाबूलाल मरांडी की वजह से मुंह की खानी पड़ेगी.

बाबूलाल मरांडी की वजह से भारतीय जनता पार्टी को इस उपचुनाव के साथ साथ आने वाले अन्य चुनाव में भी भारी नुकसान होने वाला है क्योंकि यह एक ऐसा चेहरा है जिसे जनता पसंद नहीं करती है और इसका परिणाम उपचुनाव में साफ दिखाई दे रहा है 10 तारीख को परिणाम आने के बाद यह स्पष्ट भी हो जाएगा. सुप्रियो भट्टाचार्य ने बाबूलाल मरांडी को लेकर कहा कि मरांडी यह कहते हैं कि वह किसी पर व्यक्तिगत आरोप नहीं लगाते हैं लेकिन इस उपचुनाव में वा सिर्फ सोरेन परिवार पर ही बातें कर रहे हैं उन्हें सोरेन परिवार से इतना डर है कि बिना नाम लिए उनकी एक भी दिन नहीं गुजरता है.

Advertisement

Leave a Reply

Share on facebook
Share on twitter
Share on pocket
Share on whatsapp
Share on telegram

Popular Searches