Skip to content

Jharkhand: झामुमो ने कहा- यह पद, पावर, सत्ता की नहीं बल्कि स्वाभिमान की लड़ाई हैं

Arti Agarwal

Jharkhand: झारखंड की राजनीति में उपजे वर्तमान हालात को लेकर झारखंड मुक्ति मोर्चा के कार्यकर्ता और नेता मुस्तैदी से अपने नेता के पक्ष में बचाव करते देखे जा सकते हैं. सोशल मीडिया पर हेमंत सोरेन को लेकर एक ट्रेंड भी चलाया जा रहा है जिसे #हमारा_हेमंत _हमारी _हिम्मत का नाम दिया गया है.

Advertisement

झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के समर्थन में सुबह से ही ट्विटर पर ट्रेंड चल रहा है. उनके समर्थकों ने #हमारा_हेमंत _हमारी _हिम्मत ट्विटर पर ट्रेंड कर रहे हैं. यह स्लोगन दोपहर तक ट्विटर ट्रेंड के नंबर 2 पर आ चुका है. वहीं इस मामले में बीजेपी का आईटी सेल कहीं नहीं दिख रहा है. हमेशा की तरह बाबूलाल मरांडी और निशिकांत दुबे ही सिर्फ हेमंत सोरेन का निजी तौर पर विरोध करते दिखाई दे रहे हैं परंतु बात अगर भाजपा के सोशल मीडिया टीम की करें तो वह झामुमो के समर्थकों के सामने कहीं भी दिखाई नहीं दे रहे हैं. ऐसा पहली बार नहीं है इससे पहले भी कई बार ऐसा हो चुका है जब झामुमो के समर्थकों द्वारा ट्विटर पर हिम्मत सोरेन सरकार के पक्ष में ट्रेंड चलाए जाते रहे हैं तो भाजपा का आईटी सेल कहीं दूर दूर तक दिखाई नहीं देता रहा है.

Also Read: HEMANT SOREN : राजभवन व चुनाव आयोग का BJP विधायक समरी लाल पर कोई एक्शन नहीं, हेमंत सोरेन पर त्वरित कार्रवाई!

बात अगर 2019 विधानसभा चुनाव से पहले के भी करें तो साल 2018 से झामुमो का आईटी सेल काफी सक्रिय होकर कार्य कर रहा है. भाजपा का आईटी सेल वर्तमान के मुख्यमंत्री रघुवर दास की छवि को सुधार पाने में विफल रहा था जिस कारण भाजपा को करारी शिकस्त खानी पड़ी थी वहीं आम नागरिक से लेकर झामुमो समर्थकों ने हेमंत सोरेन को झारखंड के लिए एक मसीहा के रूप में पेश किया था जो अभी भी जारी है. वर्तमान समय में भी भाजपा का आईटी सेल ना ही बाबूलाल मरांडी और अन्य नेताओं का पक्ष और बचाव करता दिखाई दे रहा है. अगर हम कहें तो भाजपा के कई टुकड़े हो चुके हैं और बाबूलाल मरांडी अकेले पड़ चुके हैं तो यह गलत नहीं होगा क्योंकि भाजपा का आईटी सेल लगातार उनकी उपेक्षा करता रहा है.

झामुमो ने वर्तमान हालात को बताया स्वाभिमान की लड़ाई:

झारखंड मुक्ति मोर्चा के समर्थक सद्दाम हुसैन ने ट्वीट करते हुए लिखा कि “यह पद, पावर, सत्ता की नहीं बल्कि स्वाभिमान की लड़ाई हैं। लड़ाई उससे जिसने जनता की चुनी हुई सरकार को लगातार अस्थिर करने का प्रयास किया. लड़ाई उससे जिसने जनमत का दुरूपयोग कर सत्ता के लोभ में भाजपा की गोदी में जा बैठा” इस ट्वीट के बाद यह साफ है कि झामुमो आक्रमक मोड में आकर भाजपा को घेरने की तैयारी में लग गई है. झामुमो समर्थक ने सीधे तौर पर बाबूलाल मरांडी पर कटाक्ष करते हुए यह कहा है कि सत्ता के लोग में भाजपा की गोदी में वह जाकर बैठ गए हैं.

Leave a Reply