protest

JMM : कृषि बिल के खिलाफ आज पूरे राज्य में विरोध-प्रदर्शन करेगी झामुमो, जिला समितियों को आदेश जारी

News Desk
Share on facebook
Share on twitter
Share on email
Share on pocket

केंद्र सरकार के द्वारा संसद से पास हुए कृषि बिल के विरोध में कई किसान संगठन सहित तमाम विपक्षी दल इस बिल का विरोध करने के लिए सड़कों पर उतर रहे हैं किसान बहुल क्षेत्र पंजाब हरियाणा में कई किसान संगठन सड़कों पर उतर करके इस बिल को वापस लेने की मांग कर रहे हैं तो वही विपक्षी दलों के द्वारा विभिन्न राज्यों में विरोध प्रदर्शन कर केंद्र सरकार पर हमला बोला जा रहा है साथ ही मांग की जा रही है कि किसानों के विरुद्ध पारित किए गए इस कानून को वापस लिया जाए इसी कड़ी में मंगलवार 29 सितंबर को झारखंड की सत्ताधारी दल झारखंड मुक्ति मोर्चा भी जिला मुख्यालय पर बिल के खिलाफ विरोध प्रदर्शन करेगी झामुमो ने प्रेस विज्ञप्ति जारी करते हुए कहा है कि यह किसानों के लिए काला कानून है।

Advertisement

झामुमो ने अपनी सभी जिला समितियों को निर्देश जारी करते हुए कहा है कि वह अपनी जिला मुख्यालय पर एक दिवसीय धरना प्रदर्शन करें और किसानों मजदूरों बेरोजगारों की आवाज को बुलंद करें इस बिल से प्रभावित होने वाली जनता के साथ झामुमो हर स्तर पर खड़ी है और हर स्तर पर इस बिल का विरोध करती है। इस बिल को लाने के बाद भाजपा का असली चेहरा सामने आया है। वो साफ झूठ बोलते थे कि वह किसान हितैषी है लेकिन असलियत यह है कि वह किसान विरोधी है आज देश भर के 62 किसान और मजदूर सड़को पर है। 250 से अधिक किसान संगठन विरोध कर रही है लेकिन केन्द्र सरकार मौन धारण करके बैठी हुई है।

नई कृषि कानून के तहत केंद्र की सरकार अपने पूंजीपति साथियों को फायदा पहुंचाने के लिए किसानों का हक मार रही है जनता अब जागरूक हो चुकी है आने वाले समय में वही किसान और वही संगठन केंद्र की भाजपा सरकार की नाकामियों को उजागर करेंगे। इस बिल के जरिए किसानों को भारी नुकसान सहना पड़ेगा इसी बात को समझाने के लिए कई किसान संगठन भी सड़कों पर उतरे हैं लेकिन मौजूदा केंद्र की अहंकारी सरकार को यह सब कुछ नहीं दिखता है उन्हें बस एक ही काम करना है कि अपने पूंजीपति साथियों को कैसे इससे फायदा पहुंचे

Advertisement

Leave a Reply

Share on facebook
Share on twitter
Share on pocket
Share on whatsapp
Share on telegram

Popular Searches