Skip to content

जुडको के तकनीकी निदेशक पर भ्रष्टाचार का आरोप, JMM ने की एसीबी से जांच कराने की मांग

Shah Ahmad

झारखंड की सत्ताधारी दल झारखंड मुक्ति मोर्चा ने शनिवार को मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन को एक पत्र लिखकर झारखंड अर्बन इन्फ्राट्रक्चर डेवलपमेंट कॉरपोरेशन के तकनीकी निदेशक रमेश कुमार पर भ्रष्टाचार का आरोप लगाया है झारखंड मुक्ति मोर्चा के केंद्रीय महासचिव सुप्रियो भट्टाचार्य ने आरोप लगाया है. उन्होंने कहा है कि मामले की जांच एसीबी से कराई जाए

सुप्रिया भट्टाचार्य ने मुख्यमंत्री को लिखे गए पत्र में कहा है कि साल 2018 में रमेश कुमार लोक स्वास्थ्य अभियंत्रण विभाग के प्रमुख थे. रिटायरमेंट के बाद तत्कालीन मुख्यमंत्री रघुवर दास ने उन्हें नगर विकास विभाग के जुड़को का तकनीकी निदेशक बना दिया. रमेश कुमार का पूर्व कार्यकाल भी कई विवादों से घिरा रहा है. पत्र में सुप्रियो भट्टाचार्य ने कहा कि राज्य की जलापूर्ति योजना में एक विशेष आधारभूत संरचना की कंपनी नागार्जुन कंस्ट्रक्शन को नियमों को ताक पर रखकर फायदा पहुंचाने संबंधित मामला था.

Also Read: Government Job: 12वीं पास के लिए निकली सरकारी भर्ती, ऑफिसर बनने का है सुनहरा मौका

मामले की जांच में यह साबित हुआ था कि नागार्जुन कंस्ट्रक्शन कंपनी पर रमेश कुमार के द्वारा फायदा पहुंचाया जाता था इस वजह से नागार्जुन कंस्ट्रक्शन कंपनी पर कार्रवाई भी हुई थी सुप्रिया भट्टाचार्य ने आरोप लगाया है कि वर्तमान में एशियन डेवलपमेंट बैंक से संपोषित रांची शहरी पेयजल आपूर्ति योजना को 12.5% निर्धारित दर से अधिक पर नागार्जुन कंपनी के पक्ष में देने के लिए रमेश कुमार अपने अधीनस्थों पर दबाव डाल रहे हैं. इससे जुड़ी निविदा पहली बार आमंत्रित की गई जिसमें सिर्फ नागार्जुन कंस्ट्रक्शन ने टेंडर डाला.

तकनीकी निदेशक रमेश कुमार के पूरे कार्यकाल कि ऐसे भी से जांच कराने और जांच अवधि के दौरान उन्हें पद मुक्त कर निलंबित करने की मांग झामुमो महासचिव सुप्रियो भट्टाचार्य ने मुख्यमंत्री से की है उन्होंने यह भी कहा कि जुड़को के गठन काल से लेकर अब तक किए गए सभी कार्यों की जांच होनी चाहिए साथ ही उन्होंने पेयजल और स्वच्छता विभाग के मंत्री और नगर विकास विभाग के सचिव को भी पत्र भेजा है.

Leave a Reply